टारगेट का टेंशन…

8 महीने पहले मृत बुजुर्ग को मौत के बाद भी लगी वैक्सीन !

MP के ग्वालियर में स्वास्थ्य विभाग अब मृत आत्माओं को भी वैक्सीन लगाकर कोरोना से बचा रहा है। सुनकर आश्चर्य हुआ होगा, लेकिन यह सही है। ग्वालियर के भितरवार में 81 साल के शिवचरन पाठक की मौत 10 मई 2021 को गैंगरीन के चलते हो गई थी। डेथ सार्टिफिकेट भी मिल चुका है उसके बाद भी स्वास्थ्य महकमे ने उनको वैक्सीन लगा दी। 17 नवंबर को उनके बेटे विनोद पाठक के मोबाइल पर मैसेज आया है। शिवचन पाठक का वैक्सीनेशन कम्पलीट हो चुका है सार्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं। यह देखकर विनोद आश्चर्य चकित रह गए। क्योंकि वह खुद स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारी है। अब यह मामला ग्वालियर में काफी चर्चित हो रहा है। इससे साफ दिख रहा है कि दिसंबर तक 100 % वैक्सीन करने का टारगेट की टेंशन क्या-क्या करवा रही है। ग्वालियर के भितरवार वार्ड-3 निवासी विनोद पाठक स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारी हैं। 

उनके पिता 81 वर्षीय शिवचरण पाठक की 10 मई 2021 को मौत हो चुकी है। उनके पिता को गैंगरीन रोग हुआ था। पर शिवचरन की मौत से पहले 9 अप्रैल 2021 को उनको वैक्सीन की पहली डोज लगवाई गई थी। उनको कोवैक्सीन का टीका लगा था और रजिस्ट्रेशन के लिए बेटे विनोद का मोबाइल नंबर यूज किया गया था। शिवचरन की मौत के बाद उनका डेथ सार्टिफिकेट भी बन गया था। पर 17 नवंबर 2021 को विनोद के पास एक मैसेज आया जिसने स्वास्थ्य विभाग के बहुत बड़े कारनामे का खुलासा किया। मैसेज में लिखा था कि आपको ( शिवचरन) वैक्सीन का दूसरा डोज सफलता पूर्वक लग गया है। अब आप अपना सक्सेसफुली वैक्सीनेट सार्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं। यह देखकर वह आश्चर्य चकित रह गए। इसके बाद वह भितरवार स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे तो यहां उन्होंने पता किया पर किसी के पास कोई जानकारी नहीं थी। 

जब विनोद ने पिता शिवचरन पाठक को लगे सेकेंड डोज के बाद सार्टिफिकेट डाउनलोड किया तो उसमें यह डिटेल थी। पहला डोज 9 अप्रैल 2021 को भितरवार स्वास्थय केन्द्र में लगा है। दूसरा डोज 17 नवंबर 2021 को लगा है। जबकि शिवचरन की मौत दूसरे डोज से 8 महीने पहले 10 मई 2021 को हो चुकी थी। कोविड की तीसरी संभावित लहर से पहले शासन 100 % वैक्सीनेशन पूरा करना चाहता है। ऐसे में शासन की ओर से सभी बड़े जिलों को दिसंबर तक 100 फीसदी टीकाकरण करने का टारगेट दिया गया है। इसके बाद लगातार इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। 3 लाख से ज्यादा लोग ऐसे हैं जिनके सेकेंड डोज की डेट निकल चुकी है, लेकिन वह वैक्सीन लगवाने नहीं आ रहे हैं। इसी कारण आनन-फानन में यह टारगेट पूरा कर ने का काम किया जा रहा है। एक दिन पहले ग्वालियर में जॉब कर रहे जबलपुर के एक युवक शिवम वर्मा को भी बिना वैक्सीन लगवाए जबलपुर में टीका लगाया था।

इस मामले में CMHO डॉ. मनीष शर्मा से जब बात की गई तो उनका कहना था कि यह कैसे हो गया। वह इस पूरे मामले की जांच कराएंगे। जांच में जिसकी भी गलती होगी उस पर एक्शन लिया जाएगा। यह गड़बड़ी कैसे हुई है इसका पता लगाया जाएगा।