आतंकवादियों को साजो-सामान प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले…

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के आठ सहयोगियों को NIA ने किया गिरफ्तार

श्रीनगर। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने कहा कि आतंकवादी हमलों की साजिश के मामले में जम्मू-कश्मीर के छह जिलों में कई स्थानों पर शुक्रवार को की गई छापेमारी में विभिन्न आतंकवादी संगठनों के आठ सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया। एजेंसी के एक अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर, कुलगाम, शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग और बारामूला जिलों में 10 स्थानों पर तलाशी ली गई, जिसमें इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और 'जिहादी' दस्तावेज तथा पोस्टर जब्त किये गए। इसके साथ ही 10 अक्टूबर को दर्ज आतंकवाद षडयंत्र मामले में गिरफ्तार आरोपियों की कुल संख्या 21 हो गई है। 

अधिकारी ने गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान श्रीनगर के आदिल अहमद वार, मनन गुलजार डार, सोभिया और जमिन आदिल, कुपवाड़ा के हिलाल अहमद डार और शाकिब बशीर तथा अनंतनाग के रऊफ भट्ट और हारिस निसार लांगू के रूप में की है। एनआईए अधिकारी ने कहा, ''गिरफ्तार किए गए आठ आरोपी विभिन्न प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों के आतंकवादी हैं और आतंकवादियों को साजो-सामान तथा सहायता प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे।'' 

एनआईए अधिकारी ने कहा कि यह मामला लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम), हिज्ब-उल-मुजाहिदीन (एचएम) और अल बद्र समेत विभिन्न प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों और द रेसिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) तथा पीपुल्स अगेंस्ट फासिस्ट फोर्सेज (पीएएफएफ) जैसे उनके सहयोगी संगठनों के कैडरों द्वारा जम्मू-कश्मीर के प्रमुख शहरों में हिंसक आतंकवादी कृत्यों को अंजाम देने की साजिश से संबंधित है। एनआईए ने कहा, ''मामले की जांच जारी है।'' एनआईए ने कहा कि मामला दर्ज होने के बाद 13 अक्टूबर को कश्मीर के विभिन्न जिलों में 18 स्थानों पर दो दिनों की तलाशी के दौरान आतंकवादियों के नौ सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया था। 20 अक्टूबर को 11 स्थानों पर हुई छापेमारी में चार और संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया था।