“डेयर डेविल शो” और “डॉग शो” का हुआ आयोजन…

BSF के जाँबाजों ने हैरत अंगेज करतब दिखाकर किया रोमांचित

ग्वालियर। बीएसएफ (सीमा सुरक्षा बल) के जाँबाजों ने अपने अदम्य साहस एवं शौर्य के साथ अनुशासनबद्ध होकर जब मोटर साइकिल से हैरतअंगेज करतबों का प्रदर्शन किया तो सभी रोमांचित हो गए। मौका था आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में सीमा सुरक्षा बल की  बायकर्स टीम “जाँबाज” द्वारा प्रस्तुत “डेयर डेविल शो” का। यहाँ जीवाजी विश्वविद्यालय के मखमली घास से हरे-भरे मैदान पर जाँबाज टीम ने मोटर साइकिलों से 31 हैरतअंगेज प्रदर्शन प्रस्तुत किए। इस अवसर पर “डॉग शो” का आयोजन भी हुआ। 

आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत सीमा रक्षकों द्वारा यह आयोजन स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े गौरवशाली इतिहास के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने एवं आम जनता में “डेयर डेविल शो” के माध्यम से देश के प्रति अगाध श्रद्धा व देश प्रेम की भावना और सीमा सुरक्षा बल के जवानों के प्रति विश्वास पैदा करना है। जीवाजी विश्वविद्यालय के मैदान पर यह कार्यक्रम विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला के मुख्य आतिथ्य में आयोजित हुआ। 

इस अवसर पर महानिरीक्षक एवं संयुक्त निदेशक सीमा सुरक्षा बल अकादमी टेकनपुर जे.एस. ओबेराय, अपर कलेक्टर एच.बी. शर्मा तथा सीमा सुरक्षा बल के अन्य अधिकारी एवं शहर के गणमान्य नागरिक मौजूद थे। बीएसएफ के जाँबाजों ने जब एक साथ तेज रफ्तार में मोटर साइकिल चलाकर म्यूजिकल राइड का प्रदर्शन किया तो बड़ी संख्या में मौजूद दर्शक दांतों तले उँगलियां दबाने को मजबूर हो गए। इसी तरह टीम कैप्टन इंस्पेक्टर अवधेश कुमार सिंह ने जब धधकती ज्वालाओं के बीच से तेज रफ्तार में मोटर साइकिल चलाकर 80 टयूबलाइटों के गोले को ध्वस्त करते हुए पार किया तो कोई भी रोमांचित हुए बिना नहीं रह सका। 

फ्लैग मार्च के साथ “डेयर डेविल शो” का शुभारंभ हुआ। इसके बाद जाँबाज सैल्युट, एरो पोजीशन, रोप साइडिंग, लैडर विथ जम्प, लैग गार्ड, फ्यूल टैंक राइडिंग, फोर मेन, फिश राइडिंग, महाशक्तिमान, शीर्षासन, मोबाइल पीटी, नेक राइडिंग, पोल एक्सरसाइज, जांबाज प्रथम, फुटरेस्ट राइडिंग, बैक राइडिंग सिटिंग, बैक राइडिंग लैडन, जांबाज सेकेण्ड, टी पोजीशन, साइड राइडिंग, टेल लाइट राइड, लैडर डबल, बैकफुट रेस्ट राइडिंग, बैक राइडिंग स्टेंडिंग, निघेवान, फाइव मेन, चेस्ट जम्प व बैक राइडिंग डबल प्रदर्शन बीएसएफ के जाँबाजों ने प्रस्तुत किए। 

जीवाजी विश्वविद्यालय के मैदान पर आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित हुए कार्यक्रम में मौजूद नागरिकों को सीमा सुरक्षा बल के श्वान दस्ते द्वारा प्रस्तुत किए गए हैरतअंगेज करतबों ने सभी को भीतर तक प्रभावित किया। अपराधियों से निपटना हो अथवा फिर तस्करों की पहचान या फिर कठिन बाधाओं के बीच से होकर गुजरना हो। 

राष्ट्रीय श्वान दस्ते ने सभी बाधाओं को फतह करने का जीवंत प्रदर्शन करके दिखाया। साथ ही भारतीय योग विधा और स्वच्छता अभियान पर केन्द्रित प्रेरणादायी करतबों का प्रदर्शन श्वान दस्ते ने किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मौजूद गणमान्य नागरिकों व बच्चों ने करतल ध्वनि के साथ श्वान दस्ते का उत्साहवर्धन किया।