अधिकारियों को किया निर्देशित…

खेती को बनायें लाभ का धंधा : संभागीय आयुक्त

ग्वालियर। कृषकवार, जिला कृषि कार्यक्रम निर्धारण वर्ष 2021-22 एवं कंप्रिहेंसिव-डिस्ट्रिक्ट एग्रीकल्चर प्लान (सी-डेप) की संभागीय कार्यशाला में संभागीय आयुक्त आशीष सक्सैना ने कहा कि हमें कृषकों के लिए खेती को लाभ का धंधा बनाने की दिशा में कार्य करना चाहिए इसके लिए प्रत्येक कृषक की ग्रामवार डेटा तैयार करें। किस-किस कृषक को कृषि कार्य हेतु क्या-क्या आवशयकता हैं, तथा किस समय पर कौनसी फसल बोई जाती है एवं किस बाजार में उस फसल को बेचा जाता है। उन्होंने कहा कि किसान, गांव, विकासवार एवं जिलेवार डेटा तैयार होने के बाद उस पर वैज्ञानिकों विषय विशेषज्ञों द्वारा जांच परख कर कृषकों को उचित सलाह दी जा सकेगी। कृषि विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित कंप्रिहेंसिव-डिस्ट्रिक्ट एग्रीकल्चर प्लान (सी-डेप) की संभागीय कार्यशाला में संभागीय आयुक्त श्री सक्सैना ने कहा कि पुरानी पद्धति से खेती में लाभ नही हो सकता है।

इसके लिए हमें अच्छी प्लानिंग करनी होगी और उस प्लानिंग पर अमल करना होगा। इसके लिए हमें तकनीकी सहारा लेना होगा। तभी हम खेती को लाभ का धंधा बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी कृषकों का डेटा तैयार होने पर खाद, बीज आदि के उपयोग की प्लानिंग पहले से की जा सकेगी, कि किस किसान को कितना खाद, बीज लगेगा व किस फसल को कितना पानी लगेगा। इसके साथ ही उन्होंने कृषि कार्य से जुडे हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि दीपावली से पहले क्षेत्रीय अधिकारी अपने क्षेत्र के एक-एक गांव का डेटा ऑनलाइन फीड करें तथा डेटा फीड करते समय अगर किसी भी प्रकार की परेशानी आ रही है तो संबंधित अधिकारी को अवगत करायें। 

कार्यशाला में ग्वालियर चंबल संभाग के सभी जिले के कलेक्टर व कृषि विस्तार अधिकारियों ने  वर्चुअली जुडकर अपने-अपने विचार रखे। कार्यक्रम में संयुक्त संचालक कृषि ग्वालियर चंबल संभाग डीएल कोरी ने कार्याशाला में आये कृषि विभाग के विभागीय अधिकारियों से कहा कि हमें क्षेत्र भ्रमण कर किसानों की जरूरतों और प्राकृतिक संसाधनों का उचित उपयोग कैसे हो तथा कृषकों को नई-नई पद्धतियों को अपना कर खेती के बारे में अवगत कराना चाहिए। जिससे ज्यादा से ज्यादा पैदावार की जा सके। साथ ही जिला कृषि कृषकवार के बारे में अवगत कराया। 

इसके साथ ही कुलपति रा.वि.सि.कृ.वि.वि. ग्वालियर डॉ. एस.के. राव, संयुक्त संचालक उद्यानिकी ने उद्यानिकी विभाग के बारे में, संयुक्त संचालक पशुपालन ग्वालियर ने पशुपालन विभाग के बारे में, जेड.एम. मार्क फेड संयुक्त पंजीयक सहकारिता ग्वालियर ने आई.एफ.एस.एम.एस. उर्वरक पोर्टल संबंधी जानकारी दी, उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास/ परियोजना संचालक आत्मा/ कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र एवं संबंधित जिलों के उप संचालक/परियोजना संचालक जिले के वर्तमान परिदृश्य पर जानकारी दी इसके साथ ही वैज्ञानिक विषय विशेषज्ञों कृषि विज्ञान केन्द्र ग्वालियर में रबी फसलों की कृषि तकनीकि की जानकारी के बारे में विशेषज्ञो ने कार्यशाला में संबोधित किया।