महीनों से गड्डों में तब्दील हुई सड़कों को...

VVIP दौरे से पहले कुछ घंटों की मेहनत से पेंचवर्क कर सुधारा 

ग्वालियर। शहर की सड़कों की रिपेयरिंग पैच वर्क और वे साफ-सुथरी चमचमाती हुई तभी नजर आती हैं। जब किसी भी वी- वी आईपी का मूवमेंट शहर में होता है ऐसा ही इन दिनों ग्वालियर में हो रहा है। कितने ही दिनों से शहर की सड़कों अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही थी। लोग शहर की सड़कों में बने गड्ढों से परेशान थे। इन गड्ढों कारण कई लोग तो दुर्घटना का शिकार भी हो चुके हैं। 

कीचड़ और धूल मिट्टी से भरी पड़ी इन सड़कों पर चलने वाले लोग और उनके आसपास रहने वाले लोग तमाम
बीमारियों के शिकार बन रहे हैं थे। लेकिन अब इन सड़कों के गड्ढे रात दिन मजदूर लगाकर भरवाए जा रहे हैं उनके ऊपर डांबर भी डलवाया जा रहा है जिससे माननीय मंत्री जी को शहर की सड़कों की दुर्दशा का ठीक से आकलन ना लग पाए। राज्यसभा सांसद नगरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जी के नगर आगमन पर शहर की सड़कों की दशा और दिशा बदली जा रही है इसके लिए निगम का आमला रात-दिन एक किए हुए हैं। 

लेकिन सड़क पर लगाये जा रहे ये पैबंद क्या वास्तविकता को छुपा सकते हैं। यह कैसी शासन व्यवस्था है कि एक तरफ एक विधायक जनता के हित के मुद्दों को लेकर मसलन बिजली पानी सड़क जैसे मुद्दों को लेकर अगर नगर निगम मुख्यालय के गेट पर धरना देता है तो कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताकर उसके व उसके कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया जाता है। 

वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार के मंत्री के आगमन पर भव्य स्वागत की तैयारियां शहर में की जा रही हैं क्या स्वागत सत्कार के दौरान एकत्रित होने वाली भीड़ के कारण कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन नहीं होगा ? और यदि होगा तो क्या इसी प्रकार का मुकदमा मंत्री जी और उस स्वागत सत्कार में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं के खिलाफ शासन प्रशासन दर्ज करेगा ? यह एक यक्ष प्रश्न है जिसका जवाब शायद ना में ही मिलेगा।