जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों एवं शासकीय सेवकों की संयुक्त बैठक संपन्न…

जिले में शेष लोगों को सरकार एवं समाज के साझा प्रयासों से लगेंगे टीके : शेजवलकर

ग्वालियर। सरकार एवं समाज के साझा प्रयासों से ग्वालियर जिले में शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करने के प्रयास हो रहे हैं। टीकाकरण में सहयोग करने के लिये जनप्रतिनिधिगण, सामाजिक एवं स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधिगण आगे आए हैं। इन सभी की बीएलओ एवं टीकाकरण से जुड़े विभिन्न विभागों के शासकीय सेवकों की सांसद विवेक नारायण शेजवलकर एवं कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह की मौजूदगी में संयुक्त बैठक हुई। जिले में कोरोना वैक्सीन का प्रथम डोज लगाने का लक्ष्य हासिल करने के लिए बैठक में सभी ने एक सुर में हामी भरी। बुधवार को यहाँ जीवाजी विश्वविद्यालय के इंटरनेशनल अटल कन्वेंशन सेंटर में आयोजित हुई संयुक्त बैठक में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने आह्वान किया कि सभी जनप्रतिनिधिगण दलगत भावना भुलाकर इस पुनीत अभियान में सहयोगी बनें। उन्होंने कहा जिस तरह मतदान के दिन हम सभी लोगों को वोट डालने के लिये घर-घर जाकर प्रेरित करते हैं, उसी तरह घर-घर संपर्क कर शेष लोगों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाएँ। 

उन्होंने कहा कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के लिये जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों को शासन – प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करना होगा। यह सफलता तभी मिलेगी जब कोई भी व्यक्ति टीकाकरण से वंचित नहीं रहेगा। सांसद श्री शेजवलकर ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 17 सितम्बर को जन्मदिवस है। यदि इस तिथि तक हम ग्वालियर जिले के शत-प्रतिशत लोगों को कोरोना वैक्सीन के प्रथम डोज का टीका लगवाने में सफल रहे तो यह प्रधानमंत्री के लिये ग्वालियर का सबसे बड़ा उपहार होगा। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि लोगों की जिंदगी से जुड़े इस पुनीत अभियान के लिये विशेष रणनीति बनाई गई है। जिसके तहत साझा प्रयासों से 10 दिन में जिले के शेष लोगों को कोरोना के प्रथम डोज का टीका लगाने का लक्ष्य हासिल करने के प्रयास होंगे। सभी के सहयोग से निश्चित ही इसमें सफलता मिलेगी। 

उन्होंने कहा कि बीएलओ और बीएलए समन्वय बनाकर काम करें, जिससे कोई भी व्यक्ति छूटे नहीं। कलेक्टर ने कहा कि शतप्रतिशत टीकाकरण  करने के लिये घर-घर कुंडी बजाएँ और ढोल-ढमाके के साथ निकलें, जिससे टीकाकरण के प्रति सकारात्मक वातावरण का निर्माण हो। उन्होंने कहा कि ग्वालियर जिले ने साझा प्रयासों से एक दिन के भीतर एक लाख टीके लगाने का लक्ष्य भी हासिल किया है। इसलिये निश्चित ही इस अभियान में भी हम सब सफल होंगे। कार्यक्रम में जिला पंचायत सीईओ किशोर कान्याल, भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, एसडीएम झाँसी रोड़ सी बी प्रसाद, एसडीएम ग्वालियर सिटी प्रदीप सिंह तोमर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष शर्मा और जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. आर के गुप्ता ने भी टीकाकरण से संबंधित उपयोगी बातें बताईं। संयुक्त बैठक में सभी से यह भी कहा गया कि घर-घर संपर्क के दौरान जिन घरों में कोई सदस्य टीकाकरण से शेष मिले तो उस घर पर क्रॉस (X) का निशान लगाएँ। 

साथ ही उस सदस्य को टीका लगवाने के बाद सही (✓) का निशान प्रदर्शित कराएँ, जिससे स्पष्ट हो सके कि सभी घरों में टीके लग गए हैं। ग्वालियर जिले में अब तक 16 लाख 13 हजार 667 कोरोना वैक्सीन के डोज लगाए जा चुके हैं। इनमें 12 लाख 17 हजार 426 प्रथम डोज और 3 लाख 96 हजार 241 द्वितीय डोज लग चुके हैं। ज्ञात हो जिले में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के कुल 16 लाख 29 हजार 489 लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य है। इस प्रकार लगभग 4 लाख लोगों को प्रथम डोज के टीके लगाए जाना शेष हैं। बैठक में यह भी कहा गया कि जिले के जो लोग नौकरी, व्यवसाय अथवा अन्य वजहों से बाहर गए हैं उनका डाटाबेस भी तैयार करें। साथ ही यह जानकारी भी प्राप्त करें कि इन लोगों को टीके लग गए हैं कि नहीं। यदि टीके लग गए हों तो उन्हें जिले की टीकाकरण से शेष सूची से हटाएँ और यदि नहीं लगे हैं तो फोन इत्यादि से संपर्क कर टीकाकरण के लिये प्रेरित करें।