संभाग आयुक्त एवं आईजी ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश…

अवैध रेत उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण पर हो कड़ी कार्रवाई : संभागायुक्त

ग्वालियर। ग्वालियर-चंबल संभाग में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण पर कड़ी कार्रवाई की जाए। अवैध उत्खनन एवं परिवहन करने वालों के विरूद्ध पुलिस प्रकरण कायम करने के साथ-साथ उपयोग में लाए गए वाहनों को भी राजसात करने की कार्रवाई की जाए। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने ग्वालियर-चंबल संभाग के जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों की बैठक में यह बात कही। बैठक में ग्वालियर रेंज के आईजी अविनाश शर्मा, चंबल रेंज के आईजी सचिन अतुलकर सहित दोनों संभागों के जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित वन, राजस्व सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने समीक्षा बैठक में कहा है कि ग्वालियर – चंबल संभाग के सभी जिलों में रेत के अवैध उत्खनन एवं परिवहन की रोकथाम के लिये नाके स्थापित किए जाएं। 

सभी नाकों पर सीसीटीव्ही कैमरे भी लगाए जाएँ। इन नाकों पर 24X7 के लिये राजस्व, पुलिस, खनिज के अधिकारी तैनात किए जाएँ। इसके साथ ही जिन ठेकेदारों को रेत परिवहन का ठेका मिला है उनके व्यक्ति अगर बैठना चाहें तो बैठने की अनुमति दी जाए। नाकों पर चैकिंग प्रभावी हो और इसकी मॉनीटरिंग भी वरिष्ठ अधिकारी करें। संभाग आयुक्त श्री सक्सेना ने यह भी निर्देशित किया है कि वर्तमान वर्षा ऋतु में रेत के उत्खनन पर रोक लगी है। इस समय कहीं पर भी रेत का उत्खनन नहीं होना चाहिए। जिला कलेक्टरों के माध्यम से जिन ठेकेदारों को रेत संग्रहण की अनुमति दी गई है वे ही संग्रहण स्थल से परिवहन कर सकते हैं। बिना अनुमति के रेत संग्रहण करने वालों के विरूद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जाए। 

खनिज विभाग के माध्यम से जिन ठेकेदारों को रेत उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण की अनुमति मिली है उन्हें हर संभव सहयोग प्रशासन का मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। समीक्षा बैठक में यह भी निर्देशित किया गया कि बिना रॉयल्टी के कोई भी वाहन रेत, परिवहन करता पाया जाए तो उसके विरूद्ध कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही वाहनों में क्षमता से अधिक रेत का परिवहन करने वाले वाहन संचालकों के विरूद्ध भी कार्रवाई करें। ग्वालियर आईजी अविनाश शर्मा ने कहा कि ग्वालियर-चंबल संभाग में अवैध रेत उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण की शिकायतें मिलती हैं। इन शिकायतों पर जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक तत्परता से कड़ी कार्रवाई करें। 

अवैध उत्खनन के कार्य में लगे हुए लोगों के विरूद्ध पुलिस प्रकरण भी कायम किए जाएँ। अवैध उत्खनन में लगे वाहनों एवं मशीनरी को भी जब्त करने की कार्रवाई की जाए। राजस्व, पुलिस एवं खनिज विभाग के समन्वय से रेत के अवैध कारोबार को सख्ती से रोका जा सकता है। आईजी चंबल रेंज सचिन अतुलकर ने बैठक में कहा कि चंबल संभाग के भिण्ड एवं मुरैना में भी रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन और भण्डारण पर कड़ी निगरानी रखते हुए कार्रवाई की जाना चाहिए। राजस्व विभाग को पुलिस के साथ समन्वय स्थापित कर रेत के अवैध व्यवसाय में लगे लोगों के विरूद्ध कार्रवाई करें। खनिज विभाग का अमला भी निरंतर निगरानी करे और कहीं से भी अवैध उत्खनन, परिवहन की जानकारी मिलती है तो पुलिस एवं राजस्व विभाग के सहयोग से तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करें।