ताइवान और भारत के बीच द्बिपक्षीय व्यापार को प्रोत्साहित करने…

ताइवान के प्रतिनिधिमण्डल के साथ व्यापार एवं निवेश को लेकर MPCCI में बैठक सम्पन्न

ग्वालियर। 8 सितम्बर को ताइवान एक्सटर्नल ट्रेड प्रमोशन काउंसिल (टैट्रा), मुबई के प्रतिनिधि मण्डल के साथ आज एक बैठक ‘चेम्बर भवन` में ताइवान और मध्यप्रदेश के बीच द्बिपक्षीय व्यापार को लेकर सायं 4 बजे आयोजित की गई। बैठक में ताइवान एक्सटर्नल ट्रेड प्रमोशन काउंसिल के डायरेक्टर वेलबर वांग एवं ट्रेड प्रमोशन अधिकारी-कुमारी सोनाली हुले सहित मध्यप्रदेश चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री के मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, वृहद एवं मध्यम उद्योग उपसमिति के संयोजक-राजकुमार गर्ग, एमएसएमई उपसमिति के संयोजक-सुरेन्द्र कुमार अग्रवाल, सहसंयोजक-द्बारकेश अग्रवाल, पुरूषोत्तम कौशिक, घनश्यामदास गुप्ता, लघु उद्योग भारती से सुधीर सिंह भदौरिया आदि उपस्थित थे। बैठक में ताइवान एक्सटर्नल ट्रेड प्रमोशन काउंसिल के डायरेक्टर वेलबर वांग ने कहा कि हमारी संस्था सन् 1970 में स्थापित हुई थी। 

संस्था का उद्देश्य ताइवान और भारत के बीच द्बिपक्षीय व्यापार को प्रोत्साहित करना है। हमारे द्बारा ताइवान एवं मध्यप्रदेश के बीच व्यापार एवं निवेश को बढावा देने के उद्देश्य से आज हम आपके बीच उपस्थित हुए हैं। आपने बताया कि ताइवान द्बारा इलेक्ट्रिकल व्हीकल, ऑटोमोबाइल एवं सोलर एनर्जी आदि सेक्टर के प्रॉडक्ट उच्च गुणवत्ता के साथ बनाये जा रहे हैं। हम चाहते हैं कि आप हमारे उत्पादों से परिचत हों और हम आपके, ताकि आपके और हमारे बीच आयात-निर्यात, व्यापार और निवेश बढ सके। बैठक में मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा कि ग्वालियर अंचल में व्यापार एवं निवेश की काफी संभावनायें हैं और हमारा ग्वालियर अंचल मध्यप्रदेश का हृदय स्थल है। 

भारत के कई राज्यों की सीमाएं इस क्षेत्र को छूती हैं और यहां दिन-प्रतिदिन यातायात के साधनों के साथ ही, निवेशकों के लिए सस्ती जमीन व अन्य सुविधायें उपलब्ध हैं। आप ताइवान के उत्पादों एवं उनके मैन्युफेक्चर्स व निवेशकों की जानकारी हमसे साझा करें तो इससे हमारे बीच संवाद स्थापित होगा और इसके बाद व्यापार-निवेश के बढने की शुरूआत होगी। आप निकट भविष्य में एक सेमीनार भी चेम्बर ऑफ कॉमर्स में प्लान करें जिसमें आप पीपीटी प्रजेन्टेशन के माध्यम से अपनी जानकारियां हमारे सदस्यों के बीच प्रस्तुत करें जिससे सेक्टरवाइज लोग आपसे जुड़ सकें। वृहद एवं मध्यम उद्योग उपसमिति के संयोजक-राजकुमार गर्ग ने कहा कि ग्वालियर टैक्सटाइल का हब  है, इसके साथ ही यहां, कृषि उत्पाद, कंफेक्शनरी आदि उत्पादों का निर्माण भी प्रमुखता से होता है। 

आप और हमारे बीच वृहद स्तर पर संवाद स्थापित होने से निश्चित ही आयात-निर्यात बढेगा। एमएसएमई उपसमिति के संयोजक-सुरेन्द्र कुमार अग्रवाल ने कहा कि आपके यहां के उत्पादों की जानकारी साझा होने से हमारे सदस्य आपसे जुड़ सकेंगे और ताइवान और ग्वालियर अंचल के बीच द्बिपक्षीय व्यापार और निवेश शीघ्रता से बढेगा। ताइवान से आये प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि कोविड से परिस्थितियां धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं, हम अपने मुख्यालय से सेमीनार की अनुमति प्राप्त कर, जल्द ही इसे प्लान करेंगे और हमारे यहां के उत्पाद व उनके निर्माताओं की जानकारी भी शीघ्र ही आपसे साझा करेंगे ताकि आपके हमारे बीच सोलर एनर्जी, ईको ग्रीन, ऑटोमाबाइल  आदि सेक्टर में व्यापार व निवेश बढ सके।