यूवा पीढ़ी में नशे की लत लगाने वालों तथा भूमाफियाओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश…

प्रभारी मंत्री ने ली ग्वालियर के पुलिस अधिकारियों की बैठक

ग्वालियर। आज पुलिस कन्ट्रोल रूम ग्वालियर सभागार में माननीय प्रभारी मंत्री म.प्र. शासन तुलसी सिलावट तथा माननीय ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर द्वारा ग्वालियर पुलिस के समस्त राजपत्रित अधिकारियों की बैठक लेकर जिले की कानून व्यवस्था एवं अपराध तथा शहर के यातायात की समीक्षा की। इस बैठक में पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन अनिवाश शर्मा के साथ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी के अलावा समस्त अति. पुलिस अधीक्षक तथा नगर पुलिस अधीक्षकगण उपस्थित रहे। बैठक में ग्वालियर यातायात पुलिस के डीएसपी भी उपस्थित रहे। बैठक के प्रारम्भ में माननीय प्रभारी मंत्री तथा माननीय ऊर्जा मंत्री का पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन तथा पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा बुके देकर स्वागत किया गया। बैठक में माननीय प्रभारी मंत्री द्वारा उपस्थित पुलिस अधिकारियों से उनका परिचय प्राप्त किया गया। तद्उपरान्त प्रभारी मंत्री द्वारा कोविड काल के दौरान ग्वालियर पुलिस द्वारा किये गये कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि कोराना महामारी के दौरान ग्वालियर पुलिस द्वारा आमजनता के लिये किये गये कार्य अद्भुत हैं। 

जिनका मैं दिल से सम्मान करता हॅंू तथा ग्वालियर पुलिस का आभार व्यक्त करता हॅूं। उन्होने यह भी कहा कि कोराना की बीमारी अभी खत्म नहीं हुई है इसलिए इस बीमारी से बचने के लिये मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बनाई गई कोविड गाईड लाईन का पालन करावाना आप सभी की नैतिक जिम्मेदारी है, जिससे अपने शहर को कोराना की तीसरी लहर से बचाया जा सके। इसी क्रम में प्रभारी मंत्री द्वारा ग्वालियर शहर के यातायात सुधार हेतु कुछ सुझाव भी यातायात पुलिस के अधिकारियों को दिये, जिसमें मुख्यतः लेफ्ट टर्न फ्री करने तथा सड़क के बीच लगे हुए बिजली के खम्बों का हटवाने की बात कही। इस हेतु उनके द्वारा ग्वालियर यातायात पुलिस के अधिकारियों को जिलाधीश ग्वालियर से समन्वय स्थापित कर कार्यवाही कराने के निर्देश भी दिये गये। प्रभारी मंत्री द्वारा पुलिस अधीक्षक ग्वालियर से शहर में लगे हुए सीसीटीव्ही कैमरे, डाॅयल 100 तथा अन्य संसाधनों के संबंध में जानकारी ली गई। 

पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले में काफी समय से रिक्त पड़े हुए उप पुलिस अधीक्षकों के पद को भरे जाने हेतु प्रभारी मंत्री से अनुरोध किया गया। प्रभारी मंत्री द्वारा पुलिस अधीक्षक ग्वालियर एवं पुलिस के समस्त अधिकारियों को नशे का कारोबार करने वाले तथा यूवा पीढ़ी को नशे की लत लगाने वालों पर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये, साथ ही कहा कि पुलिस कर्मियों को सादा बर्दी में स्कूल/काॅलेजों के आसपास लगाया जाकर ऐसे लोगों को चिन्हित किया जाए जो यूवा पीढ़ी को नशे की लत लगाकर उनके भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होने कहा कि यूवा पीढ़ी हमारे देश का भविष्य है जिसे बचाये रखने की जिम्मेदारी हम सभी की है। प्रभारी मंत्री द्वारा ऐसे असमाजिक तत्वों तथा आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों को चिन्हित करने के लिये कहा गया जो शासकीय भूमि पर अतिक्रमण किये हुए हैं। ऐसे लोगों पर प्रभावी कार्यवाही करते हुए अतिक्रमण की गई शासकीय भूमि को मुक्त कराने के प्रयास जिला प्रशासन के साथ मिलकर किया जाए। 

प्रभारी मंत्री द्वारा अपराधों की समीक्षा के दौरान ग्वालियर पुलिस द्वारा चैन स्नेचिंग, अंधेकत्ल, गुम बालिकाओं तथा अवैध मादक पदार्थो की तस्करी करने वालों के खिलाफ विगत दिनों में की गई अच्छी कार्यवाहियों तथा थाना मुरार क्षेत्र में हुए तिहरे हत्याकाण्ड का खुलासा कर घटना में संलिप्त आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिये ग्वालियर पुलिस की प्रशंसा की तथा भविष्य में भी इसी प्रकार की कार्यवाही करते हुए असमाजिक तत्वों तथा आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों पर लगाम लगाने की बात कही। प्रभारी मंत्री के द्वारा ग्राम व नगर रक्षा समिति को सक्रिय कर उनका सहयोग लेने तथा थाना क्षेत्र में सुरक्षा समिति बनाकर क्षेत्र के गणमान्य नागरिकों को उसमें सम्मलित करने के लिये कहा गया, जिससे कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित होने पर शांति स्थापित करने के लिये उनका सहयोग लिया जा सके। बैठक के अंत में पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा माननीय प्रभारी मंत्री एवं माननीय ऊर्जा मंत्री का आभार व्यक्त करते हुए उनके द्वारा दिये गये निर्देशों पर ग्वालियर पुलिस द्वारा तत्काल अमल किये जाने का भरोसा दिया गया।