ग्वालियर में अब मिलेंगीं विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं…

इटर्नल और कल्याण मिलकर करेंगे दिल का इलाज

ग्वालियर के लोगों को अब विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं शहर में ही मिल सकेंगी इसके लिए कल्याण मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल और जयपुर के इंटरनल हॉस्पिटल संयुक्त रूप से अपनी सेवाओं का विस्तार करने जा रहे हैं। इसमें इंटरनल हॉस्पिटल के प्रसिद्ध एक्सपर्ट के द्वारा कल्याण हॉस्पिटल के स्टाफ के साथ मिलकर ग्वालियर में अपनी सेवाएं देने की बात कही गई । शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान दोनों अस्पतालों के मैनेजमेंट स्टॉप और डॉक्टरों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि विश्वस्तरीय उपचार ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे इसके लिए हम अपना दायरा लगातार बढ़ा रहे हैं।

मध्य प्रदेश के एक बड़े हिस्से तक यह सुविधाएं कल्याण मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल के माध्यम से पहुंचाए जाने की बात पत्रकार वार्ता के दौरान कही गई।  इसके लिए इंटरनल हॉस्पिटल के अनुभवी एक्सपर्ट लगातार प्रयास में हैं डॉक्टर्स के साथ सपोर्टिंग स्टाफ को भी उसी प्रकार ट्रेंड किया जाएगा । इसके लिए पैरामेडिकल स्टाफ और नर्सिंग स्टाफ भी कल्याण हॉस्पिटल के स्टाफ के साथ लगातार कोऑर्डिनेट करता रहेगा। कार्डियक सुविधाओं से इसकी शुरुआत होगी बाद में दूसरी स्पेशलिटी की सेवाएं भी दी जाएंगी। 

वार्ता के दौरान डॉक्टर्स ने बताया कि हम अपनी एडवांस कार्डियक सुविधाओं को कल्याण हॉस्पिटल के साथ शेयर करेंगे, जिसमें डाबी प्रोसीजर, मिनिमल इनवेसिव बायपास सर्जरी, इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी कार्डिफ ट्रीटमेंट सहित हर तरह का विश्व स्तरीय कार्डियक ट्रीटमेंट यहां मिलेगा।  कार्डियोलॉजी से इसकी शुरुआत के बाद हम लंग्स और हार्ट ट्रांसप्लांट, न्यूरोसाइंस, किडनी ट्रांसप्लांट, एडवांस जी आई सर्विस, सर्जरी सर्विसेस सहित सभी वर्ल्ड क्लास एडवांस ट्रीटमेंट सर्विस आमजन तक पहुंचाएंगे । 

ग्वालियर में हर समय हमारी बैकअप ऑन ग्राउंड टीम रहेगी जो किसी भी तरह की इमरजेंसी को हैंडल करने के लिए तैयार होगी। अभी इंटरनल हॉस्पिटल में देश की सर्वाधिक डाबी केसेज का अनुभव रखने वाली टीम के द्वारा छोटे से चीरे से दिल के जटिल से जटिल ऑपरेशन, इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिकल प्रोसीजर, कांपलेक्स एनजीओ प्लास्टी का विशेष अनुभव रखने वाली टीम के द्वारा किए जा रहे हैं कुछ समय पश्चात यह सुविधा ग्वालियर में भी उपलब्ध होगी। वार्ता के दौरान डॉ प्राचीश प्रकाश, डॉ मंजू शर्मा, डॉ. अमित चौरसिया, डा. सौरभ जयसवाल, डॉ. कुश भगत, डॉ प्रदीप भदोरिया, डॉ. संतोष गुप्ता आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।