CM का ऑन द स्पॉट फैसला, मंच से CMO और तहसीलदार को किया सस्पेंड…

डंडा लेकर निकला हूं, गड़बड़ी करने वालों को नहीं छोड़ूंगा : CM शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवाड़ी में मंगलवार को मंच से ही दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया। वह जेरोन में सभा को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना में अनियमितता की बात सामने आई। इस पर उन्होंने तत्कालीन सीएमओ उमाशंकर मिश्रा को सस्पेंड कर और संबंधित अधिकारियों की जांच के आदेश दिए। वहीं, पृथ्वीपुर की सभा में तलैया के निर्माण में भ्रष्टाचार की बात सामने आने पर तहसीलदार अनिल तालिया को सस्पेंड कर दिया। 

दरअसल, मुख्यमंत्री मंगलवार को जनआशीर्वाद यात्रा के तहत जिले में पहुंचे थे। जेरोन की सभा में पहुंचे सीएम से ग्रामीणों ने पीएम आवास में भ्रष्टाचार की शिकायत की। सीएम ने मौके पर ही जेरोन तत्कालीन सीएमओ उमाशंकर मिश्रा को निलंबित कर दिया, जो वर्तमान में जतारा में सीएमओ के रूप में पदस्थ हैं। कमिश्नर सागर मुकेश शुक्ला ने आदेश जारी करते हुए जेडी कार्यालय में अटैच कर दिया। इसके बाद वह पृथ्वीपुर पहुंचे। यहां पर ग्रामीणों ने तहसीलदार अनिल तलैया की भी शिकायत की। इस पर उन्हें भी सस्पेंड करने के आदेश दे दिए। सीएम ने कहा- 'डडा लेकर निकला हूं, गड़बड़ी करने वालों को नहीं छोड़ूंगा।'

घोषणाएं -

  • ओरछा : अगले शैक्षणिक सत्र में महाविद्यालय का निर्माण।
  • मोहनगढ़ : प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उन्नयन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में। केवट समाज के लिए सामुदायिक भवन का निर्माण।
  • ग्राम पंचायत अचर्रा और वृषभानपुरा : 11.40 करोड़ की लागत, हरपुरा नहर पुनर्निर्माण का कार्य। स्ट्रक्चर्स लाइनिंग का कार्य।
  • ग्राम पंचायत हथेरी : 1 करोड़ 23 लाख रुपयों की लागत से हथेरी नलजल योजना।
  • पंचमखेड़ा : 5.18 की लागत से झिन्ना नाला का लोकार्पण।
  • ममौरा : 8.50 लाख की लागत से इमलिया खिरक सुदूर सड़क निर्माण का लोकार्पण।
  • जैरोन (खालसा/कोइली बस्ती) : 50 लाख की लागत से मुक्तिधाम निर्माण। 2 करोड़ की लागत से नवीन बस स्टैंड का निर्माण। 1 करोड़ की लागत से तालाब सौंदर्यीकरण। 3.83 करोड़ की लागत से विभिन्न RCC नाला निर्माण।
  • जबारपुरा : 4.45 लाख की लागत से परकुलेशन टैंक का भूमिपूजन, 44.73 लाख रु की लागत से 3 तालाबों का नवीनीकरण, 14.98 लाख की लागत से हाथी पांव सुदूर सड़क का निर्माण।