किसानों से मुंह फेरती सरकार ! 

आंदोलन से जुड़े सवालों पर असहज दिखे कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर

ग्वालियर। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उस समय असहज लगे जब उनसे पिछले 9 महीने से चल रहे किसान आंदोलन के बारे में सवाल किया गया. इस सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने बड़ा ही आश्चर्यजनक जवाब दिया. उन्होंने कहा, छोड़ो यार. जबकि साथ चल रहे समर्थक ने कहा कि मंत्री जी को दूसरे कार्यक्रम में जाना है. दरअसल रविवार को ग्वालियर में कनफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज यानी CII ने एक स्थानीय होटल में कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया था. इसमें मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर को आमंत्रित किया गया था. इसी दौरान मंत्री का ये बयान सामने आया। 

कोरोना योद्धाओं की मंत्री तोमर ने की सराहना

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि सीआईआई ने कोरोना संक्रमण काल में अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को बखूबी निभाया है सीआईआई के सहयोग ने सरकार को इस महामारी से लड़ने में बड़ी मदद की है, उनकी यह मदद अद्भुत है. इस मौके पर कोरोना वॉरियर्स का सम्मान भी किया गया. जिसमें कई सामाजिक कार्यकर्ता, चिकित्सक और अन्य लोग शामिल थे. वहीं इस दौरान जैसे ही केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से किसान आंदोलन को लेकर सवाल किया गया, तो वह थोड़े असहज हो गए और माइक हटाते हुए आगे निकल गए। 

लंबे समय से चल रहा किसान आंदोलन

गौरतलब है कि किसान आंदोलन के कारण सरकार को कई बार असहज स्थिति का सामना करना पड़ा है. किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. दिल्ली के विभिन्न बॉर्डर पर किसान 9 महीने से आंदोलन कर रहे हैं. जबकि सरकार उनकी बात सुनने के लिए तैयार नहीं है. दोनों ही पक्ष अपनी-अपनी बात पर अड़े हुए हैं।