"आजादी का अमृत महोत्सव" के उपलक्ष्य में…

ऊर्जा मंत्री ने BSF की साइकिल रैली को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

ग्वालियर। आजादी की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव का ध्येय गर्व के उन पलों को याद करना है, जिनसे भारत की आजादी का इतिहास जुड़ा है। स्वतंत्रता संग्राम के गौरवपूर्ण इतिहास के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के लिए सीमा सुरक्षा बल द्वारा आयोजित तीन साइकिल रैलियों के क्रम में तृतीय रैली आज ग्वालियर से रवाना हुई। जिसमें मुख्य अतिथि प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एवं आईपीएस एडीजी सीमा सुरक्षा बल अकादमी टेकनपुर लालातेन्दु मोहंती द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रैली को रवाना किया गया। 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए स्वतंत्रता संग्राम के जन नायकों को याद किया व सीमा सुरक्षा बल द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में जो प्रयास किए जा रहे हैं उनकी सराहना की। इस साइकिल रैली में सीमा सुरक्षा बल अकादमी के 15 साइकिल चालकों (एक ऑफीसर, तीन एसओ व 11 अन्य कार्मिक) ने भाग लिया। 

सीमा रक्षकों की यह टुकड़ी लगभग 350 किलोमीटर की दूरी तय करके 2 अक्टूबर 2021 को राजघाट नईदिल्ली पहुँचेगी, जहाँ रैली का समापन समारोह होगा। इस अवसर पर महानिरीक्षक सीओटी जे एस ऑबरॉय, उप महानिरीक्षक सीओटी एस के मिश्रा, कमाण्डेंट सीओटी बीएसएफ अकादमी टेकनपुर पी के दुबे, पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी, एडीएम ग्वालियर रिंकेश वैश्य, एसोसिएट प्रोफेसर जीआरएमसी जे एस नामधारी, जीवाजी यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर डॉ. राजेन्द्र सिंह सहित अन्य गणमान्य नागरिकों ने भी इस समारोह में भाग लिया।