सिख संगत के सहयोग से होगा पूरा आयोजन…

कोविड गाइडलाइन के दायरे में रहकर मनेगा 400वां प्रकाश पर्व

ग्वालियर किला स्थित गुरुद्वारा दाताबंदी छोड़ में 400वां वर्ष शताब्दी प्रकाश पर्व श्रद्धाभाव के साथ कोविड गाइडलाइन के दायरे में रहकर मनाया जाएगा। यह फैसला मंगलवार को गुरुद्वारे में आयोजित की गई सिख समाय की बैठक में लिया गया है। सिख समाज के 6वें गुरू हरगोविंद साहिब द्वारा तत्कालीन मुगल बादशाह जहांगीर की कैद से 52 हिंदू राजपूत राजाओं को आजाद करवाने के 400 वर्ष पूर्ण होने के मौके पर शताब्दी समारोह मनाया जाना है। जो 4, 5 एवं 6 अक्टूबर को मनाया जाएगा। 

यह आयोजन जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब अमृतसर के आदेश अनुसार बाबा सेवा सिंह कार सेवा खडूर साहिब की देखरेख में होगा। गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ ग्वालियर किला द्वारा समूह सिख संगत के सहयोग से पूरा आयोजन किया जाएगा। आयोजन की रूरपेखा तैयार करने मंगलवार को सिख समाज की बैठक हुई, जिसमें यह फैसला लिया गया कि प्रकाश पर्व आयोजन में मास्क और सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी। कोरोना गाइडलाइन का पूरा पालन होगा। 

गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ किला ग्वालियर के प्रबंधक बाबा लक्खा सिंह का कहना है कि कोरोना लाकडाउन के दौरान खडूर साहिब में क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाकर 33 देशों के लोगों को छह माह तक रखा गया था। उसी तरह सिख समाज कोरोना से बचाव के लिए सभी इंतजाम करेगा। संस्था की और से देशभर में कार्यक्रम की लाइव टेलीकास्ट की व्यवस्था की गई है। बाबा जी ने बताया कि अमृतसर श्री अकाल तख्त साहिब से 6 सितंबर को एक शब्द चौकी ग्वालियर की ओर गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ के लिए रवाना हुई है। 100 लोगों का जत्था रवाना किया गया है जो कि पैदल चल कर 3 अक्टूबर को ग्वालियर पहुंचेगा।