देश में वैक्सीनेशन का नया रिकॉर्ड...

एक दिन में लगे वैक्सीन के 1.32 करोड़ से ज्यादा डोज

नई दिल्ली। कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच टीकाकरण के मोर्चे से एक अच्छी खबर आयी है. भारत में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर नया रिकॉर्ड बना है. भारत ने एक दिन में 1 करोड 32 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज देकर अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड दिया. 31 अगस्त को एक एक ही दिन में 1 करोड़ 32 लाख 45 हजार 266 डोज लगाई गईं. इनमें 1 करोड़ 35 हजार 652 पहली डोज और 32 लाख 9 हजार 614 दूसरी डोज शामिल हैं, इसके साथ ही भारत ने अबतक 65 करोड़ 32 लाख डोज दे दिए है. भारत में कुल डोज का ये आंकड़ा कितना बड़ा है इसे इस तरह से समझा जा सकता है कि यह अमेरिका की कुल आबादी का दोगुना है. 

यानी भारत ने अकेले अब तक अमेरिका की दोगुनी आबादी के बराबर वैक्सीन डोज लगाए हैं. पिछले एक हफ्ते में भारत ने हर रोज औसतन 74 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज लगाए हैं. जाहिर है दुनिया में आज कोई भी देश इतनी तेजी से हर रोज वैक्सीन नहीं लगा रहा है, जितनी तेजी से भारत लगा रहा है. हर दिन सबसे अधिक टीके लगाने के मामले में आज भारत पहले नंबर पर है. भारत के बाद दूसरे नंबर पर ब्राजील है. लेकिन यह भारत के 74.09 लाख हर दिन वैक्सीन लगाने के मुकाबले एक चौथाई से भी कम यानी हर रोज 17.04 लाख वैक्सीन डोज लगा रहा है. वैक्सीन लगाने के मामले में भारत ने सबसे कम समय यानी 114 दिनों में 17 करोड़ कोविड वैक्सीन डोज देकर एक विश्व रिकॉर्ड बनाया है. 

जबकि 17 करोड़  डोज देने में अमेरिका को 115 दिन लगे थे और चीन को 119 दिन. हिमाचल प्रदेश में 18 साल से ऊपर के 100 प्रतिशत लोगों को पहला डोज लग गया है. इस कामयाबी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 6 सितंबर को प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मियों को बधाई देंगे तो सीएम जयराम ठाकुर ने दुर्गम इलाकों में जाकर वैक्सीनेशन करने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों  लोगों को बधाई दी है. एमपी का इंदौर भी पहले डोज के मामले में 100 फीसद वैक्सीनेट हो गया है. भारत के कम से कम आठ राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां की 75 प्रतिशत से ज्यादा आबादी को वैक्सीन की पहली डोज लग गई है.