शल्य प्रसव के विरोध में...

हनुमान मंदिर गोलपाड़ा के सेवकों ने जलाया 100वें सांसद का पुतला

अस्पतालों में डिलीवरी के दौरान ऑपरेशन को प्राथमिकता दी जा रही ह है।ऑपरेशन वाली इस इन डिलीवरीज से विरोध में संकट मोचन हनुमान बालाजी मंदिर गोलपारा से सेवक प्रतिदिन किसी न किसी सांसद का पुतला दहन किया जाता है । रविवार को केंद्रीय मंत्री केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवीया का पुतला दहन किया गया।  इसी प्रकार हर मंगलवार को हर केंद्रीय मंत्री का पुतला दहन किया जाएगा।  यह बात मंदिर के सेवादार जगबीर दास तोमर ने रविवार को पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही । श्री तोमर ने बताया कि संसद में बैठे 543 सांसद तक अपनी बात पहुंचाने के लिए यह किया जा रहा है। 

क्योंकि अभी तक उन्होंने अपनी बात इन सांसदों तक ज्ञापन के माध्यम से पहुंचाने का प्रयास किया था लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई इसी वजह से आर्या पुतला जलाने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा सामान्य प्रसव से पैदा हुए हैं प्रकृति के हर जीव के प्रसव सामान्य हो रहे हैं लेकिन महिलाओं के प्रसव ऑपरेशन से कराए जा रहे हैं। इससे महिलाएं शारीरिक ज् रूप से कमजोर हो जाती हैं साथ ही इन से उत्पन्न होने वाले बच्चे भी कई व्याधियों से ग्रसित होने की संभावना बनी रहती हैं। इसका विरोध करने के  लिए सेवकों द्वारा आंदोलन चलाया जा रहा है। और यह तब तक जारी रहेगा जब तक इस कृत्य पर रोक नहीं लगाई जाती है।

इस अवसर पर कुछ पत्रकारों का सम्मान भी किया गया। वार्ता के दौरान सेवक के के अग्रवाल, किशन सिंह तोमर, दीपक श्रीवासतव, सुरेश गोयल, सुरेन्द्र परमार, संजय,चंद्र प्रकाश श्रीवास्तव, पुष्पेंद्र श्रीवास्तव, कमल किशोर, यशपाल तोमर, शिवराज सिंह सिकरवार, श्याम कुमार शर्मा अंकित अग्रवाल, राहुल माहेश्वरी,विजेंद्र कुमार वर्मा, राजेश लारिया बसंत लक्ष्मी सिकरवार, मीना तोमर, पवन अग्रवाल, भारती बत्रा, रामादेवी , सुमन शर्मा , केश कली बघेल, निधि सिकरवार ,विमला, ममता ,रिया प्रियंका आदि उपस्थित रहे।