डॉक्टर्स के सेवानिवृत होने पर विदाई समारोह आयोजित…

सेवानिवृत होने के बाद भी करें मानव सेवा : ऊर्जा मंत्री

ग्वालियर। सेवानिवृत होने के बाद भी करें मानव सेवा, मानव सेवा से बडा कोई पुण्य का कार्य नही है। सेवा का जो अवसर आपको मिला है वह हर किसी को नही मिल सकता। कभी भी मन से की गई सेवा व्यर्थ नहीं जाती है, आपकी सेवा का ही प्रतिफल है कि आज इस अस्पताल को आईएसओ का अवार्ड मिला। उक्ताशय के विचार प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कर्मचारी राज्य बीमा चिकित्सालय के सेवानिवृत होने वाले डॉक्टर्स के विदाई समारोह के अवसर पर कहे। 

कर्मचारी राज्य बीमा चिकित्सालय परिसर में आयोजित विदाई समारोह में डॉ. आलोक पाठक मेडिकल स्पेशलिस्ट, डॉ. शैलेन्द्र नागौरी उप-संचालक, डॉ. एम.सी जैन नाक,कान,गला रोग विशेषज्ञ के सेवानिवृत होने पर प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने डॉक्टर्स को शॉल-श्रीफल से सम्मानित कर सम्मानपूर्वक विदाई दी। इस अवसर पर रतिराम यादव, पूर्व पार्षद चंदन राय, डॉ. चन्द्रशेखर जायसवाल, एलके दुबे सहित डॉक्टर्स, स्टाफ नर्स सहित सेवानिवृत होने वाले डॉक्टर्स के परिजन भी शामिल हुए। 

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने इस अवसर पर कहा कि आपने अपना एक लम्बा जीवन श्रमिकों की सेवा करते हुए निकाला है। अगर आपकी इच्छा हो तो में शासन स्तर पर प्रयास करू की आप पुनः अपनी सेवायें दे सकें। उन्होने कहा कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है, आपके पास श्रमिक विशेष परिस्थितियों में ही इलाज के लिए आता है। उन्होने कहा कि इन डॉक्टर्स के सेवानिवृत होने के बाद इस अस्पताल में इनकी कमी नही खलनी चाहिए। 

मेरा सभी डॉक्टर व स्टाफ से भी अनुरोध है कि यहां आने वाले प्रत्येक मरीज को बेहतर इलाज मिले। इस अवसर पर सेवानिवृत होने वाले डॉक्टर आलोक पाठक ने कहा कि मैने अपनी 40 वर्ष श्रमिकों की सेवा में बिताये हैं, ये पल हमेशा याद रहेगें। डॉ. शैलेन्द्र नागौरी ने कहा कि अस्पताल में आने वाले प्रत्येक मरीज की हर संभव मदद कर उनको उचित इलाज दिलवाया। डॉ. एमसी जैन ने कहा कि सभी के सहयोग से में अस्पताल परिसर में श्रमिकों का इलाज कर पाया।