कोरोना काल के बाद पहला बड़ा त्योहार…

रक्षाबंधन की खरीदारी के लिए बाज़ारों में उमड़ी लोगों भीड़

कोरोना काल के बाद पहला बड़ा त्योहार रक्षाबंधन 22 अगस्त काे मनाया जाएगा। इसे लेकर बाजार तैयार है। व्यापारियों को अच्छे कारोबार की उम्मीद है। गहनों से लेकर कपड़े तक की खरीदारी शुरू हो गई है। आने वाले दिनों में भीड़ और बढ़ेगी। इसके चलते व्यापारियों ने पूरी तैयारी कर ली है। व्यापारियों ने कपड़े, गहनों और अन्य सामान की नई रेंज मंगवाई है। साड़ी, सलवार सूट की डिमांड ज्यादा है। इसके चलते नया कलेक्शन व्यापारियों ने मंगवाया है। 

आने वाले दिनों में ग्राहकी अच्छी रहने की उम्मीद है। वहीं युवती व बच्चियों के लिए भी नया कलेक्शन बाजार में है। रक्षाबंधन पर ईयर रिंग, अंगूठी, कंठी सेट और पैंडल की मांग अधिक रहती है। गिफ्ट में लोग यह सामान देते हैं। अब लाइटवेट ज्वेलरी की बड़ी रेंज बाजार में उपलब्ध है। इसके चलते लोग ज्वेलरी खरीद रहे हैं। यूनिक आईडी वाली ज्वेलरी बाजार में आ गई है, जिससे सोने की शुद्धता को लेकर जो संशय लोगों के मन में था वह दूर हो गया। 

ज्वेलर्स शरद गोयल ने बताया कि 1 ग्राम से अंगूठी और 1.5 ग्राम से ईयर रिंग की शुरुआत है। 4 ग्राम से सोने की चेन की शुरुआत है। यह आम आदमी की पहुंच में है। यह ज्वेलरी यूनिक आईडी वाली है। ज्वेलर्स अजय मंगल ने बताया कि हीरे की ज्वेलरी की डिमांड बढ़ी है। रक्षाबंधन पर छोटे आर्टिकल की डिमांड बढ़ी है। रक्षाबंधन पर ड्रायफ्रूट और चॉकलेट देने का चलन बढ़ा है। हालांकि मिठाई की बिक्री भी खूब होती है, लेकिन अब ड्रायफ्रूट और चॉकलेट का चलन भी है। इसके चलते अलग-अलग पैक दुकानदारों ने बनाए हैं।

सावधानी भी जरूरी

त्याेहार पर बाजार में भीड़ बढ़ेगी। ऐसे में तीसरी लहर की आशंका के चलते सावधानी रखनी होगी। बाजार में कई लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। इसे लेकर पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को भी सख्ती करनी होगी। अभी बिना मास्क के घूमने वालों पर कार्रवाई बंद हो गई है। पुलिस ने चालान भी बंद कर दिए हैं।