10 जिलों में हुई सामान्य से ज्यादा बारिश…

प्रदेश के 9 जिलों में यलो अलर्ट जारी

भोपाल। मध्य प्रदेश में जून अंत और जुलाई की शुरुआत में पानी गिरना पूरी तरह बंद रहा. लेकिन सावन माह की शुरुआत होते ही करीब 25 जुलाई से राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी हो गया. मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों में भी 9 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया. गुरुवार देर शाम मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश को लेकर अलर्ट जारी करते हुए बताया कि शुक्रवार को रीवा, शहडोल, सागर, भोपाल, जबलपुर, उज्जैन, इंदौर, ग्वालियर और चंबल संभाग में बिजली चमकने के साथ ही बौछारें गिरने की संभावना हैं. 

चंबल, शहडोल और रीवा में भारी बारिश के आसार जताए गए हैं. मौसम विभाग द्वारा बताया गया कि गुरुवार तक राज्य में 500 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. ये सामान्य से 10% अधिक है, वहीं 10 जिलों में अब तक सामान्य से ज्यादा बारिश दर्ज की गई. बताया गया है कि आने वाले कुछ दिनों में इंदौर समेत भोपाल और जबलपुर में धूप खिलेगी. अगले कुछ दिनों में बारिश में कमी देखने को मिलेगी, हालांकि बाकी क्षेत्रों में बौछारें पड़ने से नमी महसूस होगी. 

मौसम विभाग ने बताया, पिछले 9 दिनों से गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ था, जिसके बाद कम दबाव का क्षेत्र लगातार उत्तरी मध्य प्रदेश व उसके आसपास बनने लगा. इसी कारण ग्वालियर, चंबल, सागर संभाग के जिलों में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात पैदा हुए. अब यह सिस्टम कमजोर पड़ गया है. वर्तमान में हवा का ऊपरी भाग चक्रवात के रूप में तब्दील हो चुका है और उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश के साथ उससे लगे दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश पर बन रहा है. इसी कारण अब बारिश में भी कमी देखने को मिलेगी.