प्रभारी मंत्री ने किला स्थित दाताबंदी छोड़ गुरूद्वारा पहुँचकर मत्था टेका…

400वें शताब्दी वर्ष समारोह में हर संभव सहयोग दिया जाएगा : श्री सिलावट

ग्वालियर। प्रदेश के जल संसाधन एवं जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट गुरूवार को ग्वालियर किले पर स्थित दाताबंदी छोड़ गुरूद्वारा पहुँचे और मत्था टेका एवं प्रदेश व देश को कोरोना से मुक्त करने के लिये गुरूजी के चरणों में अरदास की। उन्होंने कारसेवा प्रमुख बाबा सेवा सिंह से मुलाकात कर उनसे भी आशीर्वाद प्राप्त किया। उनके साथ कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त आशीष तिवारी, जनप्रतिनिधि आशीष प्रताप सिंह, सुधीर गुप्ता एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने सेवा प्रमुख बाबा सेवा सिंह से 4 अक्टूबर से 6 अक्टूबर 2021 को दाता बंदी छोड़ किले पर सिख समाज के छठवें गुरू, गुरू हरगोविंद सिंह जी महाराज का 400वाँ शताब्दी समारोह मनाने के संबंध में आयोजित कार्यक्रम के संबंध में चर्चा की। उन्होंने यह भी आश्वस्त किया कि आयोजन के संबंध में शासन और प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग किया जाएगा। प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने यह भी कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से अभी हम पूरी तरह से मुक्त नहीं हुए हैं। आयोजनों के संबंध में शासन द्वारा जारी गाइडलाइन का भी पालन हम सबको करना जरूरी है। 

प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने पर्यावरण संरक्षण और हरियाली के लिये बाबा सेवा सिंह के नेतृत्व में वृक्षारोपण का जो कार्य किया जा रहा है उसके लिये हृदय से आभार प्रकट किया और मध्यप्रदेश को हरा – भरा बनाने के लिये सभी के सहयोग से अधिक से अधिक वृक्षारोपण हो, यह भी जरूरी है। शासन – प्रशासन के साथ-साथ समाज के अन्य लोग भी वृक्षारोपण के क्षेत्र में आगे आएं इसके भी हम सबको प्रयास करना जरूरी है। कलेक्टर ग्वालियर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आश्वस्त किया कि शताब्दी समारोह में प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग प्रदान किया जाएगा। 

आयोजन के दौरान शासन द्वारा जारी कोविड गाइडलाइन का पालन भी हो यह भी हम सबको ध्यान रखना पड़ेगा। चर्चा के दौरान बाबा देवेन्द्र सिंह ने शताब्दी समारोह के आयोजन की रूपरेखा से अवगत कराया। अंत में कारसेवा प्रमुख बाबा सेवा सिंह द्वारा प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह एवं प्रभारी निगम आयुक्त आशीष तिवारी को सरोपा भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर स्थानीय गुरूद्वारा समिति के अध्यक्ष श्री कोचर के साथ ही आयोजन समिति के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।