अक्टूबर-नवंबर में चुनाव की संभावना…

मप्र में लोकसभा उपचुनाव की तैयारी !

भोपाल। खंडवा लोकसभा उपचुनाव को लेकर एक तरफ राजनीतिक पार्टियां दावेदारों की उम्मीदवारी पर मंथन कर रही है, वहीं प्रशासनिक तैयारियां भी शुरू हो गई है। अक्टूबर-नवंबर में चुनाव होने की संभावना है, चुनाव आयोग ने करीब 2900 ईवीएम व वीवीपैट मशीनें उपलब्ध करा दी है। लोकसभा क्षेत्र में साढ़े 19 लाख से ज्यादा वोटर्स हैं। 2 अगस्त को ईवीएम की रिहर्सल होगी। खंडवा लोकसभा सीट सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन के बाद मार्च 2021 से रिक्त है। लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव की तैयारियां चुनाव आयोग ने शुरू कर दी है। 

2 अगस्त को ईवीएम के प्रथम चरण की जांच के बाद आगे की कार्रवाई शुरू होगी। अक्टूबर के अंतिम या नवंबर के पहले सप्ताह में उप-चुनाव हो सकते हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी शंकरलाल सिंघाड़े ने बताया कि उप निर्वाचन 2021 के लिए ईवीएम की एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) का काम 2 अगस्त से आरंभ किया जाएगा और सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के सदस्यों को 2 अगस्त की सुबह 11 बजे ग्राम नहाल्दा स्थिति ईवीएम वेयर हाउस पर उपस्थित रहने के लिए कहा गया है। आयोग के द्वारा जारी निर्देशों का पालन करते हुए मशीनों का परीक्षण किया जाएगा।

4 जिलों की 8 विस सीटें, साढ़े 19 लाख से ज्यादा वोटर्स

खंडवा लोकसभा क्षेत्र में 4 जिलों की 8 विधानसभा सीटें आती है। इसमें खंडवा जिले की खंडवा, पंधाना व मांधाता है। बुरहानपुर जिले की बुरहानपुर, नेपानगर, खरगोन जिले की बड़वाह, भीकनगांव और देवास जिले की बागली विधानसभा है। लोकसभा उपचुनाव में 15 जनवरी 2021 की गणना के अनुसार 1004509 पुरूष और 954854 महिलाएं यानी कुल 19 लाख 59 हजार 436 वोटर्स है इसके साथ ही 73 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं।