विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में दीं अपनी सेवाएँ…

CM शिवराज ने पूर्व राष्ट्रपति स्व. डॉ. कलाम को किया नमन 

ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की पुण्य-तिथि पर उन्हें नमन कर स्मरण किया। मुख्यमंत्री ने डॉ. कलाम के चित्र पर माल्यार्पण भी किया। डॉ. कलाम को मिसाइल मैन के नाम से जाना जाता है। 

धनुषकोडी रामेश्वरम, तमिलनाडु में 15 अक्टूबर 1931 को जन्मे डॉ. कलाम भारतीय गणतंत्र के 11वें निर्वाचित राष्ट्रपति थे। डॉ. कलाम ने चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में अपनी सेवाएँ दीं। 

भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल विकास में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। उन्होंने परमाणु परीक्षण में निर्णायक, संगठनात्मकऔर तकनीकी भूमिका निभाई। डॉ. कलाम का अवसान 27 जुलाई 2015 को हुआ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न” से सम्मनित किया गया।