सांसद श्री शेजवलकर ने कलेक्टर श्री सिंह से की चर्चा…

जिले का सुनियोजित हैल्थ प्लान तैयार कर उस पर अमल करें : शेजवलकर

ग्वालियर। कोविड-19 की महामारी से हमें सीख लेते हुए अपने जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिये सुनियोजित प्लान तैयार कर उस पर तेजी से अमल करना होगा। जिले में ऑक्सीजन की कमी भविष्य में न हो इसके लिये ग्वालियर शहर के साथ-साथ डबरा, भितरवार और घाटीगांव में भी पर्याप्त व्यवस्थायें सुनिश्चित करना जरूरी है। क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह से स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने के संबंध में विस्तार से चर्चा की। क्षेत्रीय सांसद शेजवलकर ने कहा कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को और सुदृढ़ करने तथा ऑक्सीजन की उपलब्धता शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में हो इसके लिये एक सुनियोजित प्लान तैयार किया जाए। तैयार किए गए प्लान के माध्यम से उस पर अमल भी समय-सीमा में हो, यह जरूरी है। 

श्री शेजवलकर ने यह भी आग्रह किया कि शासकीय प्रयासों के साथ-साथ निजी सहयोग से भी स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने की दिशा में प्रयास किए जाना चाहिए।  सांसद शेजवलकर ने कलेक्टर से कहा कि वर्तमान शासकीय अस्पतालों में और बेहतर उपचार के लिये भी जो व्यवस्थाएं की जाना हैं उसे तत्परता से किया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध हों इसके लिये चिकित्सक के साथ-साथ नर्सिंग स्टाफ भी पदस्थ होना चाहिए। डबरा अस्पताल के निर्माण का कार्य भी तेज गति से हो यह सुनिश्चित किया जाए। डबरा में निर्मित होने वाले अस्पताल का पूरा कार्य 15 अगस्त 2022 तक कराया जाए ताकि डबरा के निवासियों को अस्पताल की सुविधायें उपलब्ध हो सकें। इसके साथ ही डबरा में भी ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना का कार्य भी तत्परता से किया जाए। 50 बैड ऑक्सीजनयुक्त शीघ्र तैयार हों इस पर भी हमें निरंतर मॉनीटरिंग करने की आवश्यकता है। 

सांसद शेजवलकर ने कहा कि ग्वालियर के जेएएच अस्पताल में तीन ऑक्सीजन प्लांट, जिला अस्पताल में मुरार में ऑक्सीजन प्लांट, डबरा और भितरवार में ऑक्सीजन प्लांट तथा ऑक्सीजन लाईन बिछाने का कार्य भी तीव्र गति से कराया जाए। इसके साथ ही हजीरा अस्पताल के उन्नयन का कार्य भी तेजी के साथ पूरा कराया जाए। मुरार अस्पताल में सिटी स्कैन की सुविधा भी शीघ्र लोगों को मिल सके, इसके लिये तेजी से कार्य किया जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने चर्चा के दौरान सांसद शेजवलकर को अवगत कराया कि भविष्य के लिये जिले का विस्तृत हैल्थ प्लान तैयार किया गया है। इस प्लान के तहत ऑक्सीजन प्लांटों की स्थापना के साथ-साथ आईसीयू निर्माण, ऑक्सीजन लाईन बिछाने की व्यवस्था और बच्चों के लिये विशेष वार्ड और अन्य आवश्यक उपकरणों को शामिल करते हुए शासन स्तर को भेजा गया है। शासन स्तर से स्वीकृति के पश्चात इन पर तेजी से कार्य प्रारंभ किया जायेगा। 

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह भी बताया कि शहरी क्षेत्र के साथ-साथ डबरा, भितरवार और घाटीगांव में भी 50 – 50 बैड के लिये ऑक्सीजन लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है। जेएएच अस्पताल, मुरार में ऑक्सीजन प्लांटों की स्थापना का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि ऑक्सीजन प्लांटों के साथ-साथ भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए 2 हजार बैड की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही बच्चों के लिये पृथक से वार्ड तैयार कर सभी आवश्यक उपकरण का भी प्रबंध किया जा रहा है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह भी बताया कि उपकरणों के साथ-साथ चिकित्सकों और पैरामेडीकल स्टाफ की व्यवस्थाओं के लिये भी शासन स्तर से स्वीकृति हेतु प्रस्ताव भेजे गए हैं। कलेक्टर ने चर्चा के दौरान वर्तमान में कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिये किए जा रहे प्रबंधनों के संबंध में भी विस्तार से जानकारी दी। शासन द्वारा संचालित किल कोरोना-4 अभियान का संचालन किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में दल गठित कर सर्वेक्षण कर प्रभावित मरीजों का चिन्हांकन भी किया जा रहा है। सर्वेक्षण के दौरान जो लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं उनके उपचार की व्यवस्था भी की गई है।