भितरवार में 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर देने की सहमति दी…

सांसद एवं कलेक्टर ने डबरा व भितरवार में मैदानी अमले के साथ की बैठक

ग्वालियर। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी घर-घर सर्वेक्षण का कार्य कराया जाए। सर्वेक्षण के दौरान जिन लोगों में कोविड के लक्षण पाए जाते हैं उनको दवा वितरण कराने के साथ-साथ उनका टेस्ट कराने की व्यवस्था भी की जाए। क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर एवं कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने रविवार को डबरा एवं भितरवार में मैदानी अमले की बैठक लेकर यह निर्देश दिए हैं। बैठक में भाजपा के ग्रामीण अध्यक्ष कौशल शर्मा, एसडीएम डबरा प्रदीप कुमार शर्मा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने भितरवार में सांसद निधि से 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर खरीदे जाने की सहमति भी प्रदान की। डबरा एवं भितरवार में कोविड संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिये सभी प्रभावी कदम उठाने के निर्देशा-निर्देश भी दिए गए। सांसद शेजवलकर ने बैठक में कहा कि शासकीय प्रसासों के साथ-साथ ग्रामीण जनों में भी कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिये जागरूकता लाने का कार्य किया जाना चाहिए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने डबरा एवं भितरवार में मैदानी अमले की बैठक में कहा कि अब हर गाँव में सर्वेक्षण कराने के साथ-साथ जिले भर में लागू कोरोना कर्फ्यू का पालन भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। 

हर गाँव में बाहर से आने वाले व्यक्तियों को गाँव के बाहर स्थापित किए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। एक गाँव के लोग दूसरे गाँव में आवाजाही न करें, यह भी सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं पंचायत सचिवों से भी अपेक्षा की कि वे अपने-अपने गाँव में प्रमुख लोगों को साथ लेकर कोरोना सर्वेक्षण का प्रभावी कार्य करें। सर्वेक्षण के दौरान जो भी व्यक्ति संक्रमित पाया जाता है उसका तत्काल टेस्ट कराया जाए। टेस्ट के उपरांत उसे उचित चिकित्सा सुविधायें मुहैया कराई जाएँ।