ऊर्जा मंत्री ने पनिहार एवं बरई में ग्रामीणों से की चर्चा…

कोविड से डरें नहीं लेकिन सावधानी अवश्य बरतें : श्री तोमर

ग्वालियर। कोविड-19 की महामारी से डरने की नहीं बल्कि सावधानी बरतने की आवश्यकता है। सर्दी, खाँसी और बुखार होने पर तत्काल स्वास्थ्य केन्द्र पहुँचें और अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराएँ। संक्रमण की दिक्कत होने पर चिकित्सक द्वारा बताई गई दवाओं का सेवन करें। कोविड संक्रमण से ज्यादातर लोग अपने घर पर ही रहकर ठीक हो रहे हैं। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं कोविड के लिये जिले के प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शनिवार को बरई एवं पनिहार में ग्रामीणों से चर्चा करते हुए यह बात कही। 

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर रविवार को ग्राम बरई और पनिहार पहुँचे तथा कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिये चलाए जा रहे किल कोरोना-3 अभियान के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने होम क्वारंटाइन लोगों से भी मुलाकात की और लोगों को सावधानी बरतने की बात कही। ऊर्जा मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को किल कोरोना अभियान पूरी गंभीरता के साथ चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी सेनेटाइजेशन अधिक से अधिक कराया जाए। 

जिन लोगों को कोरोना के संक्रमण के लक्षण हैं उन्हें आवश्यक दवा देकर होम क्वारंटाइन कराया जाए। होम क्वारंटाइन की घर में व्यवस्था न होने पर उन्हें आइसोलेशन सेंटर में भी लाया जाए। जिन लोगों को ज्यादा दिक्कत हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती कराकर उपचार की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। ऊर्जा मंत्री ने पनिहार और बरई में विभिन्न गलियों में भ्रमण कर लोगों से चर्चा की तथा संक्रमण की रोकथाम के लिये सावधानी बरतने की बात कही। उन्होंने ग्रामीणों से आग्रह किया कि वे जब तक आवश्यक न हो तब तक घर से न निकलें। 

आवश्यक होने पर घर से निकलते समय मास्क अवश्य पहनें। भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में जाने से बचें। मंत्री जी ने यह भी आग्रह किया कि कोरोना काल में किसी भी प्रकार के आयोजनों को न करें और न ही आयोजनों में शामिल हों। मंत्री जी के भ्रमण के दौरान विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों ने किल कोरोना अभियान के संबंध में उन्हें विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण न फैले, इसके लिये हर संभव प्रयास किए जाएं।