पहले शनिवार दोपहर 12 बजे आने का था कार्यक्रम…

रविवार को ग्वालियर आएंगे CM शिवराज

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अब रविवार को ग्वालियर आएंगे। पहले CM का शनिवार को आने का कार्यक्रम था। किन्हीं कारणों के चलते उनका कार्यक्रम एक दिन आगे बढ़ गया है। यहां उन्हें कोरोना आपदा की स्थिति की समीक्षा करनी है। साथ ही यहां वह पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी बात करेंगे। यहीं कलेक्टोरेट के सभागार से वह संभाग स्तर पर कोरोना आपदा के संबंध में बैठक भी लेंगे। CM के आने से पहले शनिवार को सुरक्षा के सभी इंतजामों को आखिरी टच दिया जाना है। शनिवार सुबह 11 बजे एयरपोर्ट से लेकर कलेक्टोरेट तक CM के रूट पर रिहर्सल की जाएगी। कोरोना के वर्तमान हालात की समीक्षा के लिए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान को शनिवार को ग्वालियर आना था। 

सभी तैयारियां भी हो गई थीं, लेकिन अचानक शुक्रवार शाम उनके कार्यक्रम में बदलाव हुआ है। अब वह शनिवार की जगह रविवार को ग्वालियर आएंगे। यहां कलेकटोरेट में वह 12 से 3 बजे के बीच कोरोना के वर्तमान हालातों की समीक्षा करेंगे। इसके साथ ही संभागीय स्तर पर भी वह कोरोना के हालातों की समीक्षा बैठक के माध्यम से लेंगे। CM के आने से पूर्व शुक्रवार को कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा की तैयारियों पर IG अविनाश शर्मा, प्रभारी पुलिस अधीक्षक ASP हितिका वासल ने अफसरों की बैठक ली। इसके साथ ही शनिवार को एयरपोर्ट से लेकर कलेक्टोरेट तक रिहर्सल की जाएगी। जैसे CM का काफिला निकलता है वाहन वैसे ही निकाले जाएंगे।

कोरोना काल में अचानक CM के ग्वालियर आने के पीछे क्या कारण है यह चर्चा भी राजनीतिक गलियारों में काफी हो रही है। ऐसा पता लगा है कि पिछले एक महीने में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को लेकर भाजपा के पुराने नेता, कार्यकर्ता और सिंधिया समर्थक भाजपा नेताओं के बीच जो टकराव हुआ है उसे भी समाप्त करना है। जैसे भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष देवेश शर्मा का रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह के बंगले के बाहर प्रदर्शन करना। पूर्व साडा अध्यक्ष जयसिंह कुशवाह का पत्र लिखकर नाराजगी जताना आदि शामिल है।