उसी स्पॉट पर भाजयुमो ने जलाया कमलनाथ का पुतला…

CM का पुतला जलाने आए NSUI के सदस्यों को पुलिस ने किया गिरफ़्तार

ग्वालियर में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर FIR होने के बाद पुतला दहन को लेकर सियासत शुरू हो गई है। सोमवार दोपहर CM शिवराज सिंह का पुतला जलाने फूलबाग पहुंचे NSUI के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस अफसरों का कहना था कि कोविड गाइडलाइन में किसी भी तरह के प्रदर्शन की इजाजत नहीं है। ठीक 10 मिनट बाद उसी स्पॉट पर भाजयुमो के कार्यकर्ता व भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला जला गए। पुलिस ने दोनों दलों के बीच कोविड गाइडलाइन को काफी अच्छे से विभाजित किया है। पर पुलिस अफसर अब इस सिलसिले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं। NSUI कार्यकर्ता सोमवार दोपहर 3 बजे फूलबाग चौराहा पर CM शिवराज सिंह का पुतला दहन करने के लिये आ रहे थे। अभी वह फूलबाग पहुंचे ही थे कि उसी बीच पुलिस ने इन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस उनको हिरासत में लेकर पड़ाव थाना ले आई। 

पुलिस ने कोविड गाइडलाइन का हवाला देते हुए किसी भी तरह के पुतला दहन को गैरकानूनी बताया। पुलिस द्वारा NSUI जिलाध्यक्ष शिवराज यादव संकल्प गोस्वामी, अंकित शिवहरे, विश्वजीत भदौरिया, मनीष कौरव और अतुल धाकड़ को पकड़ा गया था। कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया। इसका NSUI कार्यकर्ताओं ने काफी विरोध जताया। कोविड गाइडलाइन का पालन कराते हुए फूलबाग के जिस प्वाइंट पर पुलिस ने NSUI को पुतला दहन से रोका वहीं 10 मिनट बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का पुतला दहन किया। भाजयुमो ने कमलनाथ द्वारा दिये गये बयान के विरोध में फूलबाग पर पूर्व मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया है इस मौके पर जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी मौजूद रहे। जिला प्रशासन की ओर से SDM सीबी प्रसाद तहसीलदार कुलदीप दुबे और पुलिस की ओर TI पड़ाव विवेक अष्ठाना, TI इंदरगंज शेलेन्द्र भार्गव, TI कंपू मुकेश कुमार वहां मौजूद थे। पर किसी ने कोविड गाइडलाइन की चिंता नहीं की। 

पुतला दहन के दौरान भाजपा ज़िला अध्यक्ष कमल माखीजानी, जिला महामंत्री शरद गौतम, भाजयुमों नगर अध्यक्ष विवेक प्रताप सिंह चौहान, युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष विनय जैन, राहुल प्रताप सिंह भदौरिया, सचिन पचौरी उपस्थित रहे। इसमें 15-20 भाजयुमो कार्यकर्त्ता मौजूद रहें। यहां सोशल डिस्टेंस भी तार-तार होता रहा। पुतला दहन पर सियासत के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जिला सदर देवेन्द्र शर्मा और अन्य नेता कहीं नजर नहीं आए। पर युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष हेवरन सिंह कंसाना के नेतृत्व में यूथ कांग्रेस अक्रामक तेवर में नजर आई। युकां ने गांधी उद्यान में मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ FIR दर्ज कराने वाली भाजपा सरकार के खिलाफ सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए धरना दिया। युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हैवरन सिंह कंसाना ने आरोप लगाया है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर मामला दर्ज राज्य सरकार के इशारे पर किया गया है।