जिससे हम कोरोना को मात देने में सफल हो सके…

कोरोना से बचाव के लिए दिनचर्या में करें बदलाव व आयुर्वेद अपनाएं : डॉ. नीलम

कोरोना की दूसरी लहर से विश्व लड़ रहा है, ऑक्सीजन व अस्पताल में बेड की कमी, श्मशान में चिता जलाने के लिए लगी कतारें, सभी के अंदर चिंता व डर का माहौल ऐसे में हम सभी का उत्तर दायित्व बनता है कि, हम सभी कोरोना से बचाव के लिए अपनी दिनचर्या में बदलाव लाने के लिए संकल्प लें, जिससे हम कोरोना को मात देने में सफल हो सके, छोटे-छोटे किए गए प्रयासों से ही हम सफल हो सकते हैं| 

सुबह जल्दी उठने का (5:00 से 6:00 के बीच) प्रयास करें, प्रतिदिन 30 मिनट फेफड़ों को मजबूत बनाने वाले प्राणायाम, कपालभाति, ताड़ासन वृक्षासन जैसे योगाभ्यास करें, दिन में दो से तीन बार गुनगुने जल का सेवन करें, घर से बाहर निकलने पर अणु तेल की दो दो बूंदे नाक में डालें | 

भोजन बनाते समय धनिया, जीरा, हल्दी ,लहसुन व अदरक का प्रयोग अधिक से अधिक करें, हरी सब्जियां व फल अधिक से अधिक मात्रा में खाएं, मौसमी फल खाने का प्रयास करें, समय पर मात्रा अनुसार आहार ले,पर्याप्त मात्रा में पानी पिए, डरे नहीं तनाव ना ले, हिम्मत व धैर्य रखें, यह मुश्किल वक्त भी गुजर जाएगा | 

सूर्य की रोशनी में 10  मिनट बैठे, भोजन में चीनी एवं नमक का अधिक प्रयोग ना करें | मास्क सही तरीके से पहने, समय-समय पर हाथ को धोते रहें , वैक्सीनेशन कराएं, आयुर्वेद अपनाएं, सावधानियां बरते व सतर्क रहे| - डॉ. नीलम कुमारी सिंह, अनुसंधान अधिकारी(आयु.)


डॉ. नीलम कुमारी सिंह

अनुसंधान अधिकारी(आयु.)