टीकाकरण के पहले चरण का राउंड-2 आज से…

जिले में 2 सेंटरों पर 18+ उम्र वालों को ऑफलाइन लगेगा टीका

CM से संकेत मिलने के बाद अब 18+ उम्र वालों के लिए वैक्सीनेशन को बढ़ाने की तैयारी हो गई है। यही कारण है कि जिनको स्लॉट नहीं मिल रहा है वह भी जिले के दो सेंटर पर जाकर ऑफलाइन वैक्सीन लगवा सकते हैं। पर यह वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन होना जरूरी है। साथ ही ऐसे लोग JAH और डबरा सिविल अस्पताल सेंटर पर टीका लगवा सकते हैं, लेकिन शाम 5 बजे के बाद इनको वैक्सीन लग सकेगी। इनको वैक्सीन के वह डोज लगाए जाएंगे जो बचत में होंगे। सोमवार से 18+ उम्र वालों के लिए दूसरा राउंड शुरू होने जा रहा है। 14 सेंटर पर 1440 लोगों को वैक्सीन लगाने का टारगेट है।

जिले में अभी 18+ उम्र वालों की संख्या लगभग 10 लाख से अधिक है। इसमें 18 से 44 साल के लोग शामिल हैं। इनको वैक्सीन की शुरूआत तो हो चुकी है, लेकिन वैक्सीन कम है और टीका लगवाने वालों की संख्या ज्यादा है। इसलिए हर दिन सिर्फ 14 सेंटर पर 1400 लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा रही है। इनको भी ऑनलाइन स्लॉट बुक करना पड़ता है। स्लॉट बुक करने में युवाओं को काफी परेशानी हो रही है। दिन में पता ही नहीं चलता है कि लाइन कब खुलती है। इसके लिए लगातार सेंटर बढ़ाकर ज्यादा से ज्यादा युवाओं को वैक्सीन लगाने की प्लानिंग चल रही है।

  • सोमवार को जिले में 151 सेंटर पर वैक्सीनेशन होगा।
  • इनमें से 14 सेंटर 18+ उम्र वालों के लिए होंगे।
  • 18+ उम्र वालों के लिए 14 सेंटर पर 1440 युवाओं को वैक्सीन का है टारगेट।
  • 18+ उम्र वालों के लिए अभी तक वैक्सीन लगवाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना और उसके बाद ऑनलाइन स्लॉट बुक करना जरूरी है पर अब दो सेंटर शहर में JAH और देहात में डबरा सिविल अस्पताल में अब ऑफलाइन टीकाकरण की भी व्यवस्था की जा रही है। यह टीका ऐसे डोज से लगेगा तो बचत में होंगे और उस शाम के बाद खराब हो जाएंगे। इसके लिए शाम को 4 बजे सेंटर पर पहुंचकर उपस्थिति दर्ज करानी होगी। यह वैक्सीन शाम पांच बजे के बाद लग सकेगी। इसके लिए ऑनलाइन स्लॉट की जरूरत नहीं होगी, सिर्फ रजिस्ट्रेशन होना काफी है। उदाहरण के लिए ऐसे समझ सकते हैं।
  • जैसे जेएएच सेंटर पर 18+ उम्र वाले 100 युवाओं को टीका लगना है। 100 को टीका लगना होता है तो 110 डोज लिए जाते हैं। कई बार कुछ डोज खराब हो जाते हैं। अब शाम 5 बजे तक यहां 90 ही युवा पहुंचे। 10 किसी कारण से नहीं आ पाए। तो यहां 20 डोज बच जाएंगे। यह डोज का उपयोग ऐसे 20 युवाओं को लगाकार किया जाएगा जो रजिस्ट्रेशन तो करा चुके हैं, लेकिन स्लॉट नहीं मिल रहा है। इन युवाओं को 4 बजे पहुंचकर कितने डोज बच रहे हैं यह पता करना होगा और अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी।