भीड़ के डर से मुख्य बाजारों में बनी रहेगी सख्ती...

जहां कम हो रहे मरीज, वहां के बाजारों में 17 के बाद मिल सकती है राहत !

ग्वालियर। ऐसे क्षेत्र, जो अब कोरोना संक्रमण के हॉट स्पॉट से बाहर आने की स्थिति में हैं। यहां जांच में अधिकांश लोग निगेटिव आ चुके हैं। वहां के स्थानीय बाजारों को 17 मई के बाद रोजाना कुछ घंटे खुलने की रियायत मिल सकती है। शहर में 15 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू होने के कारण बाजार पूरी तरह से बंद हैं। सिर्फ किराने के सामान की होम डिलीवरी एवं सुबह के समय दूध-ब्रेड आदि की दुकानें खुलने की अनुमति है। 

कर्फ्यू की पाबंदियों को एक महीना बीत चला है, जिस कारण लोगों को घरेलू जरूरतों का काफी सामान नहीं मिल पा रहा। इसलिए अब इन पाबंदियों में थोड़ी ढिलाई के साथ बाजार खोलने की तैयारी चल रही है। इसके लिए कलेक्टर ने सभी इंसीडेंट कमांडर्स से उनके क्षेत्रों की स्थिति मांगी है। जिसमें उन्हें ये स्पष्ट करना होगा कि उनके क्षेत्र में कौन से बाजार को किस वक्त कितने समय के लिए दुकान खुलने की छूट दी जा सकती है। इस रिपोर्ट पर जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में निर्णय लिया जाएगा। भीड़ संभावित बाजारों पर संशय, आईसी टीम को संभालनी होगी व्यवस्था

महाराज बाड़ा, हजीरा, नई सड़क, नया बाजार, दाल बाजार एवं मॉल में प्रशासन को भीड़ जुटने का अंदेशा है। इसलिए अधिकारियों में यहां की दुकानों को खोले जाने की रियायत को लेकर संशय बना हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि यदि इन बाजारों को कुछ घंटे की रियायत दी भी जाती है तो इंसीडेंट कमांडर्स (आईसी) और पुलिस टीम की सख्ती काफी रखनी होगी। रेस्त्रां और फूड मार्केट के लिए प्रशासन सिर्फ होम डिलीवरी की व्यवस्था फिर शुरू कर सकता है। यदि होम डिलीवरी की छूट मिली भी तो, रेस्त्रां या दुकान पर लोगों के खाने पर प्रतिबंध रखा जाएगा।

इंसीडेंट कमांडरों से क्षेत्रवार सूची मांगी गई है, जिसमें वे बताएंगे कि उनके क्षेत्र में बाजार कितनी पाबंदी के साथ खोले जाएं। रिपोर्ट 15 मई तक आ जाएगी। फिर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में निर्णय लेंगे। - कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

ये क्षेत्र हॉट स्पॉट से बाहर होने की राह पर -

  • कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के साथ ही दीनदयाल नगर, अमलताश कॉलोनी, कुंज विहार, शताब्दीपुरम, आदित्यपुरम का क्षेत्र हॉट स्पॉट के तौर पर सबसे पहले सामने आया। अब इनमें से शताब्दीपुरम, कुंजविहार को छोड़कर बाकी कॉलोनियों में एक्टिव केस खत्म होने लगे हैं।
  • मुरार में सीपी कॉलोनी रोड, तिकोनिया, चिक संतर, घासमंडी में भी मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है। यहां की दुकानों को रियायत देने की तैयारी चल रही है, लेकिन इससे सटे सदर बाजार में पाबंदियां बरकरार रखने पर सहमति बन सकती है। वहीं थाटीपुर क्षेत्र की स्थानीय दुकानों को भी कुछ घंटे की राहत मिलेगी।
  • विनय नगर सेक्टर 3 व 4 की 100 फीट रोड, आनंद नगर मेन रोड, बहोड़ापुर मेन रोड क्षेत्र भी अब एक्टिव केसों से बाहर होता जा रहा है। इसलिए यहां की स्थानीय दुकानों को लेकर छूट दी जा सकती है। इसी प्रकार किलागेट और घासमंडी की दुकानों को भी रोजाना कुछ देर की छूट दिए जाने की संभावना बन रही है।
  • गांधी नगर, लक्ष्मीबाई कॉलोनी, तानसेन नगर में भी संक्रमित मिलने के मामले और एक्टिव केस कम हुए हैं। शिंदे की छावनी के भी कुछ एरिया में छूट मिल सकती है।