अपनों को अपने ही सामने मरता देख…

भाजपा कार्यकर्ता ने CM शिवराज को बताया निकम्मा

जबलपुर।एमपी में कई लोगों की जान ऑक्सीजन और इंजेक्शन नहीं मिलने की वजह से गई है। जबलपुर बीजेपी नेता अपने परिवार के लिए इंजेक्शन की व्यवस्था नहीं कर पाया तो अपने ही सीएम को निकम्मा बता दिया। अब पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल है। एमपी में सरकार कोरोना से निपटने में पूरी तरह असफल है। लोगों को इंजेक्शन नहीं मिल रहे है, जिनके पास रुपये हैं वो ब्लैक में खरीद रहे हैं। वहीं, आमलोगों को तमाम सुविधाओं के लिए संघर्ष करना पड़ा रहा है। इन अव्यवस्थाओं को लेकर सीएम शिवराज सिंह चैहान पर बीजेपी के एक नेता बरस पड़े हैं। 

बीजेपी के नूनसर मंडल अध्यक्ष अजय पटेल ने सीएम के खिलाफ अपना आक्रोश सोशल मीडिया पर जताया है। मंडल अध्यक्ष अजय पटेल ने सीएम को अपनी फेसबुक वॉल पर निकम्मा मुख्यमंत्री लिखा है। उन्होंने लिखा है कि बीजेपी का एक कार्यकर्ता होने के बाद भी इस तरह के शब्द लिखने को मजबूर हूं और वो इसलिए क्योंकि मैंने अपनों को अपनी आंखों के सामने मरते हुए देखा है। परिवार के लिए नहीं कर पाया इंजेक्शन की व्यवस्था-अजय पटेल बीजेपी के सक्रिय नेता हैं। वह पार्टी के हर कार्यक्रम में मौजूद रहते हैं। 

हाल ही में उनके परिवार का एक सदस्य कोरोना से संक्रमित हो गया। उन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत पड़ी, लेकिन व्यवस्था करने में वह असफल रहे। अजय पटेल ने फेसबुक पर लिखा है कि इसे मैं अपनी नाकामी मानूं या फिर सरकार की। बीजेपी में रहने के बाद भी मैं एक इंजेक्शन नहीं जुटा पाया। कांग्रेस नेता ने किया हमला-बीजेपी नेता ने अपने ही सीएम पर हमला किया है। ऐसे में कांग्रेस को शिवराज को घेरने का मौका मिल गया है। कांग्रेस के नगर अध्यक्ष दिनेश यादव का कहना है कि निश्चित रूप से यह सरकार की नाकामी है कि अपनी ही पार्टी के एक कार्यकर्ता को वह इंजेक्शन की व्यवस्था नहीं करवा पाए। अजय पटेल का दर्द सही है।