मानवता को शर्मसार करने व रूह कंपा देने वाली तस्वीर…

13 साल के बेटे का शव बोरी में डालकर 3 k.m. पैदल चला बेबस पिता

बिहार। मानवता को शर्मसार करने व रूह कंपा देने वाली तस्वीर सामने आई है। बिहार के कटिहार जिले में कई दिनों से लापता 13 साल के बच्चे का शव मिला, तो पुलिस ने उसका पोस्टमार्टम कराना भी जरूरी नहीं समझा। बेबस पिता प्लास्टिक की बोरी में अपने 13 साल के बेटे का शव लेकर करीब तीन किलोमीटर तक पैदल चला। तीन किलोमीटर के बाद उसे साधन मिल सका और इसके बाद वह शव लेकर थाने पहुंचा। मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देने वाली इस घटना को लेकर पुलिस ने जिम्मेदारी लेने की बजाय जांच और कार्रवाई की बात कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली। यह घटना कटिहार जिले के कुर्सेला थाना क्षेत्र की है। मिली जानकारी के मुताबिक, भागलपुर जिले के गोपालपुर थाना क्षेत्र के करारी तीनटंगा निवासी लेरू यादव का 13 साल का बेटा हरिओम 26 फरवरी को नाव से गंगा नदी पार करते समय गहरे पानी में गिर गया था। नाविकों ने पानी में उसकी तलाश भी की, लेकिन पता नहीं चल सका। 

बेबस पिता ने इस घटना को लेकर गोपालपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। जवानी की दहलीज पर खड़े बेटे को खोने से गमगीन पिता को भला कहां चैन आता। लेरू पुत्र की तलाश में जुटा रहा। खेरिया में दूरदराज के सगे संबंधियों ने एक शव देखा और इसकी सूचना हरिओम को दी। पिता कुछ ग्रामीणों के साथ गोपालपुर थाना को सूचना देते हुए कुर्सेला के खेरिया घाट पहुंचे और शव की शिनाख्त की। लगातार छह दिनों तक पानी में रहने के कारण शव की स्थिति बेहद खराब हो गई थी, शव क्षत-विक्षत हो गया, जिसे पहचानना भी बेहद मुश्किल था, लेकिन पिता ने कपड़ों से उस कंकालनुमा शव की पहचान की। घटनास्थल पर कुर्सेला तथा गोपालपुर पुलिस पहुंची, लेकिन अमानवीय व्यवहार करते हुए दोनों थानों की पुलिस बिना शव को अपने कब्जे में लिए उक्त स्थल से निकल पड़ी। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराना भी जरूरी नहीं समझा। 

दोनों ही थानों की पुलिस लेरू और उसके परिजनों से शव लेकर थाने आने को कह कर चली गई। एक तो बेटा खोने का गम और ऊपर से पुलिस के इस व्यवहार से आहत पिता करुण क्रंदन करते हुए किसी तरह से शव को एक बोरे में भरकर लगभग तीन किलो मीटर पैदल चले और कुर्सेला थाना पहुंचे। यहां से उन्होंने गाड़ी की और पोस्टमार्टम के लिए शव को गोपालपुर थाना लेकर गए। इस पूरे प्रकरण पर अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। बिहार में इस अमानवीय घटना को लेकर सवालों के घेरे में आई पुलिस अब पल्ला झाड़ते हुए जांच और कार्रवाई का भरोसा दिला रही है। इस घटना को लेकर पूछे जाने पर कटिहार की पुलिस ने मामला भागलपुर के गोपालपुर थानाक्षेत्र का होने की बात कहकर पल्ला झाड़ने की कोशिश की। सवालों से घिरे पुलिस अधिकारियों ने यह भी कहा कि गलती अगर किसी पुलिसकर्मी से हुई है, तो इसकी जांच कर कार्रवाई की जाएगी।