शासन के सबसे कमाऊ पूतों में शुमार परिवहन महकमे ने…

परिवहन विभाग ने की लक्ष्य से 105 करोड़ रुपए अधिक राजस्व की वसूली

ग्वालियर। मध्यप्रदेश शासन के सबसे कमाऊ पूतों में शुमार परिवहन महकमे ने शासन से आवंटित लक्ष्य को हासिल करने के साथ ही 105 करोड़ रुपए अधिक राजस्व वसूल कर मिसाल कायम की। यह संभव हुआ परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत एवं परिवहन आयुक्त मुकेश जैन सहित अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना की कार्यकुशलता के चलते। गौरतलब है कि परिवहन विभाग को वित्तीय बर्ष 2020-21 के लिए 2640 करोड़ रुपए का लक्ष्य रखा गया था, जिसे वित्तीय वर्ष समाप्ति से आठ दिन पूर्व ही हासिल कर लिया था। 

वित्तीय वर्ष समाप्ति 31 मार्च तक महकमे ने 2745 करोड़ रुपए की राशि अर्जित करने में सफलता हासिल कर ली, जो कि लक्ष्य से 105 करोड़ रुपए अधिक है। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने राजस्व संग्रहण तथा जन सामान्य की सुविधाओं में वृद्धि करने के लिए समस्त अधिकारियों को समय-समय पर निर्देशित किया तथा राजस्व संग्रहण हेतु विभागीय अधिकारियों को प्रेरित किया।

परिवहन आयुक्त मुकेश जैन द्वारा राजस्व संग्रहण के लिए पथ भ्रष्ट वाहनों पर छूट एवं एकमुश्त भुगतान की सरल समाधान योजना का साप्ताहिक बैठक के माध्यम से लगातार मॉनिटरिंग की गई। सभी जिलों को माह के प्रारंभ में ही बकाया कर वाले वाहनों की सूची उपलब्ध कराकर उनसे राजस्व वसूली के लिए निर्देशित किया। इसके लिए समय-समय पर क्षेत्रीय/ जिला परिवहन अधिकारियों चेक पोस्ट पर प्रभारियों एवं सुरक्षा स्क्वाड  के मध्य सामूहिक चैकिग की योजना बनाई। 

वही अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सैना के मार्गदर्शन में प्रवर्तन अमले द्वारा वाहनों की सघन चेकिंग कर, बकाया कर से संबंधित चयनित वाहनों की वसूली की कार्यवाही की गई। विशेषकर फैक्ट्री में संचालित ऐसी वाहनों जिन पर कर बकाया था उपयुक्त समय पर चेक की जा कर वसूली की कार्यवाही की गई। काबिले गौर है कि कोरोना संक्रमण के कारण यात्री बसों पर पांच माह का कर शासन ने माफ कर दिया था, साथ ही मालवाहक वाहनों के आवागमन में भी कमी आई थी। ग्वालियर सहित 18 जिलों ने आवंटित लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त करने में सफलता हासिल की है।