युवाओं के साथ न्याय हो इसके लिए…

PSC मुख्य परीक्षा-2021 को स्थगित करने के लिए श्री पाठक ने लिखा  राज्यपाल और CM को लिखा पत्र

ग्वालियर दक्षिण से कांग्रेस पार्टी के विधायक प्रवीण पाठक जी ने आगामी 21 मार्च 2021 से प्रारंभ होने जा रही मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा-2021 को स्थगित करने के लिए मध्य प्रदेश के महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि युवाओं के साथ न्याय हो एवं उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए यह परीक्षा तब तक स्थगित रखी जाए जब तक कि भर्ती परीक्षा में आरक्षण के निर्धारण के विषय में माननीय उच्च न्यायालय का यथोचित निर्णय न आ जाए।

 विधायक श्री पाठक ने कहा कि अपने सपनों को पूरा करने के लिए पूरे समर्पण के साथ जुटे प्रतिभागियों के साथ खिलवाड़ न किया जाए। मैं भी प्रतियोगी परीक्षाओं का परीक्षार्थी रहा हूँ, परीक्षार्थी के मन की बात समझता हूँ । जब तक माननीय उच्च न्यायालय का निर्णय नही आ जाता, तब तक पीएससी मुख्य परीक्षा 2021 का मार्च में आयोजन स्थगित किया जाए। 

विधायक श्री पाठक ने पत्र में कहा है कि मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग के माध्यम से सेवा पदों पर की जाने वाली भर्ती के लिए मुख्य परीक्षा दिनांक 21 मार्च 2021 से आयोजित की जा रही है इस भर्ती परीक्षा में आरक्षण के निर्धारण के संबंध में माननीय उच्च न्यायालय में प्रकरण विचाराधीन होकर लंबित है जिसमें सुनवाई हेतु आगामी दिनांक 26 मार्च 2021 नियत है, क्योंकि प्रकरण माननीय उच्च न्यायालय में लंबित है।

यदि माननीय उच्च न्यायालय द्वारा आरक्षण के संबंध में छात्रों के भविष्य को देखते हुए यथोचित निर्णय दिया गया तो पूरी भर्ती प्रक्रिया निरस्त हो जाएगी। इस द्वंद की स्थिति में किसी भी परीक्षार्थी के लिए परीक्षा  देना कठिन होगा। विधायक श्री पाठक ने पत्र में आगे लिखा है कि कृपया ऐसी स्थिति में नियमानुसार इस भर्ती परीक्षा में पहले आरक्षण का निर्धारण किए जाने के उपरांत ही मुख्य परीक्षा का आयोजन परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए किया जाना न्यायोचित  होगा।