अब कोरोना मरीज को करना होगा दवाओं का इंतजाम…

M.P. में होम आइसोलेशन के लिए सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

भोपाल। देशभर में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है. मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग की ओर से होम आइसोलेशन को लेकर नई गाइडलाइन जारी की गई है. इस गाइडलाइन में खास बात यह है कि रोगियों को दवाई स्वयं खरीदनी होगी. स्वास्थ्य विभाग की ओर से कहा गया है कि कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि मार्च में देखी जा रही है. मामले लगातार बढ़ रहे हैं, लेकिन मृत्युदर में वृद्धि का अनुपात कम है. 

स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि सीमित संसाधनों के कारण ज्यादातर स्थित रोगी होम आइसोलेशन में रहें. इससे गंभीर रोगियों को बेड उपलब्ध कराए जा सकेंगे.स्वास्थ्य विभाग ने यह भी कहा है कि किसे होम आइसोलेशन में भेजना है और किसे नहीं यह फैसला चिकित्स के ऊपर है.होम आइसोलेशन के दौरान चिकित्सक रोगी के संपर्क में रहेंगे और वह लगातार स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहेंगे. बिना लक्ष्ण वाले मामलों में मरीज को होम आइसोलेशन मंं रखा जाएगा. 60 साल से नीचे की उम्र के लोगों को होम आइसोलेशन में रखा जा सकता है. 

घर के सभी लोग अगर संक्रमित हैं तो सभी को होम आइसोलेशन में रखा जाएगा. होम आइसोलेशन के दौरान रोगी को डिजिटल थर्मामीटर और पल्स ऑक्सीमीटर रखना होगा. 20 सर्जिकल मास्क के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताइ गई दवाइयों की व्यवस्था रोगी गो खुद ही करना होगा. जांच के बाद अगर 10 दिनों तक कोई लक्षण न दिखे और 3 और बुखार न आए तो होम आइसोलेशन समाप्त किया जा सकता है।