फैलते कोरोना संक्रमण के बीच 7 शहरोंं के बाद अब…

ग्वालियर, उज्जैन, विदिशा, नरसिंहपुर में भी रहेगा रविवार को लॉकडाउन

भोपाल। मध्य प्रदेश में तेजी से फैलते कोरोना वायरस संक्रमण के बीच 7 शहरोंं के बाद अब उज्जैन, ग्वालियर के साथ विदिशा, नरसिंहपुर में भी रविवार को लॉकडाउन रहेगा।मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान ने आज अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में यह फैसला किया। उन्होंने लोगों ने अपील की कि त्योहार घर पर ही मनाएं। इससे पहले बढ़ते संक्रमण पर सीएम शिवराज ने कहा था कि कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है महानगरों की स्थितियां बिगड़ रही है। कई उपाय हमने किए हैं लेकिन यह लोगों की जिंदगी का सवाल है। आज शाम को कोरोना समीक्षा कर रहा हूं। उन्होंंने कहा कि आपातकाल का समय है मर्यादा जरूरी है। मैं घर पर त्यौहार मनाने की अपील सबसे करता हूंं और जरूरत पड़ी तो आपlत धर्म का पालन करूंगा। सीएम ने मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति और नियंत्रण हेतु उठाये जा रहे कदमों को लेकर समीक्षा बैठक की। 

कोरोना से पिछले 48 घंटे में 18 लोग जान गंवा चुके हैं। इसमें झाबुआ का 8 साल का बच्चा भी शामिल है। उसे 16 मार्च को बुखार आया था और इंदौर में इलाज चल रहा था। कोरोना की दूसरी लहर के बाद इतने कम उम्र के बच्चे की यह संभवत: पहली मौत है। यही वजह है कि भोपाल, इंदौर और जबलपुर के अलावा छोटे शहरों में प्रशासन अब ज्यादा सख्ती कर रहा है। प्रदेश में सबसे ज्यादा केस वाले शहर भोपाल, इंदाैर और जबलपुर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। राज्य में 60% केस सिर्फ इन तीन शहरों में दर्ज किए गए। भोपाल में कोरोना की रफ्तार बढ़ने के साथ एक्टिव केस में तेजी से वृद्धि हो रही है। यहां एक सप्ताह में 45% एक्टिव केस बढ़ गए हैं। यदि मार्च महीने के 24 दिन के आंकड़े देखें तो अब तक 5 गुना वृद्धि हो चुकी है। भोपाल में 1 मार्च को एक्टिव केस 556 थे, जो 24 मार्च को बढ़कर 3195 हो चुके हैं। पिछले 7 दिन में जिस तरह से प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है, उससे संक्रमण दर में 2.1% की वृद्धि हुई है। 

17 मार्च को यह दर 5.2% थी, जो 24 मार्च को बढ़कर 7.3% तक पहुंच गई है। यानी टेस्ट बढ़ने के साथ पॉजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसकी वजह यह सामने आई है कि संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वालों को ट्रेस करने में लापरवाही हो रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के महानगरों में कोरोना महा संक्रमण की तरह फैल रहा है। इसे रोकने के लिए संक्रमण को रोकना, अस्पतालों में व्यवस्था और वैक्सीनेशन पर सरकार का ज्यादा फोकस है। उन्होंने संकेत दिए कि अब ज्यादा सख्त निर्णय लिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन का आर्थिक गतिविधियों पर बहुत ही बुरा असर होता है। लेकिन आपात जैसी स्थिति में कुछ मर्यादा रखनी पड़ती है और लोगों की जान बचाने के लिए सरकार को अपना धर्म निभाना पड़ता है। इसको ध्यान में रखते हुए फैसले लिए जाएंगे।