विकास में हो रहे भेदभाव को लेकर हैं नाराज…

विकास के नाम पर छोटे कारोबारियों को किया जा रहा है परेशान : डॉ. सिकरवार

ग्वालियर। ग्वालियर के शहरी क्षेत्र के दोनों विधायकों ने रविवार को स्मार्ट सिटी और नगर निगम द्वारा शहर में करवाए जा रहे कथित विकास कार्यों पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस विधायक डॉ सतीश सिंह सिकरवार और विधायक प्रवीण पाठक कांग्रेस जिला डॉक्टर अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा  आदि ने इन विकास कार्यों पर सवाल उठाते हुए प्रशासन के सामने पत्रकारों के माध्यम से अपनी बात रखी। वार्ता में शामिल कांग्रेसी नेताओं का कहना था कि मामला हाथ ठेले वालों को सड़कों से हटा कर हॉकर जोन में भेजने का है हालांकि विधायक द्वय ने और भी कई मुद्दों पर अपनी बात रखी। 

पत्रकारों से चर्चा के दौरान शहर में बिगड़ती ट्रैफिक व्यवस्था खुद ही सड़कें पानी के अनियमित सप्लाई आदि को लेकर भी चर्चा की गई। ग्वालियर पूर्व के कांग्रेस विधायक डॉ. सतीश सिकरवार और ग्वालियर दक्षिण के विधायक प्रवीण पाठक ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रदेश सरकार पर ग्वालियर के कुछ क्षेत्रों में विकास कार्यों में भेदभाव करने का आरोप लगाया है। डॉ. सतीश सिकरवार ने कहा कि स्मार्ट सिटी की सुंदरता के नाम पर हाथ ठेले वालों को सड़कों से हटाकर हॉकर जोन में भेजा जा रहा है जबकि चाय बेचने जैसा धंधा करने वालों का धंधा हॉकर जोन में नहीं चल सकता है। 

डॉ. सिकरवार ने कहा कि हाथ ठेला लगाकर धंधा करने वाले शहर की लाइफ लाइन होते हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो सरकार हाथ ठेले वालों को धंधे के लिए 10-10 हजार लोन देने की बात कर रही है, वहीं दूसरी ओर उन्हें व्यवसाय भी ठीक तरह से नहीं करने दे रही है। डॉ. सिकरवार ने कहा कि प्रशासन द्वारा हाथ ठेले वालों को सड़क से भगाया जा रहा है और उनका व्यवसाय चलने की जगह कारें खड़ी कराई जा रही हैं। विधायक प्रवीण पाठक ने बताया कि दक्षिण और ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र के बाशिंदों को सुनियोजित तरीके से अधिक राशि के बिजली के बिल दिए जा रहे हैं। 

प्रशासन भी मनमाने तरीके से काम कर रहा है। शहर को व्यवस्थित करने की बजाय लोगों को परेशान किया जा रहा है, विधायक द्वय का कहना है कि शासन प्रशासन ने विकास के प्रति भेदभाव पूर्ण रवैया नहीं बदला तो सड़क पर उतर कर आंदोलन किया जाएगा। वार्ता के दौरान शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा, वरिष्ठ नेता अमर सिंह माहौर, मोहन माहेश्वरी एवं महाराज सिंह पटेल भी उपस्थित थे।