न तो समय दिया जाएगा न नोटिस सीधे जुर्माना…

अब शहर में बिना पंजीयन कराए लिफ्ट का उपयोग करना पड़ सकता है महंगा !

ग्वालियर। नगर निगम में बिना पंजीयन कराए लिफ्ट का उपयोग करना महंगा पड़ सकता है। निगम ने इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया है और दो दिन के भीतर ऐसे सभी स्थानों पर वह जांच कर कड़ी कार्रवाई करने जा रहा है यदि तब तक पंजीयन करा लिया तो ठीक नहीं तो लिफ्ट पर तो ताला डलेगा ही साथ ही आर्थिक दंड भी भुगतना होगा भले ही इसका पुख्ता डाटा निगम के पास अभी नहीं है। 

लेकिन बीते कुछ माह में एक दर्जन के आपास लोग लिफ्ट के लिए पंजीयन कराने पहुंचे है। पुराने कितने रजिस्ट्रेशन है इसके लिए भी निगम पुरानी फाइलें खंगालकर सूची तैयार कर रहा है इसके बाद अमला फील्ड में उतरेगा तब न तो समय दिया जाएगा न नोटिस सीधे जुर्माने के साथ कार्रवाई होगी। 

नगर निगम के फायर अमले द्वारा भवन अनुमति शाखा से भी इस तरह की जानकारी जुटाई जा रही है। कितनी इमारतें, होटल या फिर अन्य निर्माण हो रहे है जिनके द्वारा लिफ्ट के लिए इजाजत मांगी गई है या नहीं। इससे निगम को भी लाभ होगा, लिफ्ट पंजीयन के रूप में उसे मोटी राशि हाथ लगेगी। उधर सरकारी उपक्रमों पर भी फायर ब्रिगेड लगाम कसेगा। यहीं नहीं इस तरह बिना अनुमति चल रहीं लिफ्टों पर तुरंत ताला जड़ दिया जाएगा।