कार्यक्रम की शुरुआत गीतों ,कविताओं, डांस व ड्रामा से की गई…

ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन ने मनाया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

ग्वालियर। दिनांक 08.03.2021 को ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महाराज बाड़े के विक्टोरिया मार्केट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व सभा का आयोजन किया गया कार्यक्रम की शुरुआत गीतों ,कविताओं, डांस व ड्रामा से की गई। 

सभा को संबोधित करते हुए ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन की जिला अध्यक्ष श्रीमती सुनिधि चौहान ने आज के दिन के महत्व कि  अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाया जाता है इसके बारे में बताया उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस एक मजदूर आंदोलन से उपजा है इसका बीजारोपण सन 1908 में हुआ था जब 15000 महिलाओं ने न्यूयॉर्क शहर में मार्च निकालकर 8 घंटे काम वोट डालने का अधिकार व समान काम के समान वेतन की मांग की। 

ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन की राज्य सचिव श्रीमती रचना अग्रवाल ने बताया आज भी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस एक संकल्प के रूप में मनाने की जरूरत है क्योंकि उस समय भी महिलाओं ने अपने अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी थी और आज भी हम देखते हैं श्रम कानूनों में संशोधन कर काम के घंटों को बढ़ाया जा रहा है समान काम का समान वेतन आज भी पूर्ण रुप से लागू नहीं हुआ है। 

किसान विरोधी तीन काले कानून जो अभी सरकार ने लागू किए हैं यह सिर्फ किसानों के लिए ही नहीं बल्कि महिला विरोधी भी हैं क्योंकि इस कानून के लागू होने से दूध, फल, सब्जीयाँ व खाद्यान्न सभी महंगे हो जाएंगे जिसकी सीधी मार महिलाओं की रसोई पर पड़ेगी  इसलिए आज भी महिलाओं को एकजुट होकर लड़ने की जरूरत है तभी इस दिन को मनाना सार्थक होगा। 

कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथियों में महिला लेबर इंस्पेक्टर लकी शिवहरे जी व शिक्षिका मीनाक्षी वाजपेई जी ने भी इस अवसर पर अपनी बात रखी। कार्यक्रम का संचालन ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन की जिला सचिव भूमिका पवार ने किया कार्यक्रम में महिलाएं छात्र-छात्राएं व आम नागरिक भी सम्मिलित हुए।