संक्रमण के चलते एक की मौत…

जिले में बुधवार को मिले 61 नए कोरोना संक्रमित

शहर में हर दिन के साथ संक्रमित की संख्या बढ़ती जा रही है। कोरोना प्रत्येक नए दिन के साथ नई परेशानियां लेकर आ रहा है। बुधवार को ग्वालियर में 61 नए संक्रमित मिले हैं। जो मार्च में अभी तक के सबसे ज्यादा केस हैं। साथ ही एक संक्रमित की मौत भी हुई है। यही कारण है कि जिला प्रशासन ने अब जिले की सीमा पर बाहर से आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग और हिस्ट्री रिकॉर्ड पता करने का निर्णय लिया है। साथ ही संदिग्धों से कड़ी पूछताछ के बाद ही उन्हें शहर में प्रवेश देने का निर्णय लिया है। महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर का असर मध्य प्रदेश में भी तेजी से हो रहा है। महाराष्ट्र बॉर्डर से लगे जिलों मे यह तेजी से फैला था। अब यह उत्तर मध्य प्रदेश की ओर भी तेजी से फैल रहा है। प्रदेश के भोपाल, इंदौर, जबलपुर में सप्ताह में एक दिन का लॉकडाउन लगाना पड़ा है। ग्वालियर में भी दिन पर दिन कोरोना संक्रमित बढ़ते जा रहे हैं। बुधवार को 1228 सैंपल की रिपोर्ट आई है, इनमें 61 की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव के रूप में आई है। जिसके बाद अब जिले में कुल संक्रमित की संख्या बढ़कर 18642 हो गई है। 

बुधवार को कोरोना से एक मौत भी हुई है। 19 मार्च को कोरोना संक्रमित हुए गोल पहाड़िया के 70 वर्षीय काशी प्रसाद की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इस एक मौत के बाद जिले में अभी तक कुल मौत 315 हो चुकी हैं। 61 नए संक्रमित मिलने के बाद कुल एक्टिव केस की संख्या 344 पर पहुंच गई है। बुधवार को जहां संक्रमित बढ़े हैं वहीं अस्पताल से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या सिर्फ 34 है। कोरोना की दूसरी लहर अत्यंत गंभीर है। इसिलए अब जिले की सीमाओं और सभी एंट्री प्वाइंट पर जिला प्रशासन, नगर निगम व पुलिस की टीमें पहले की तरह आपसी समन्वय के साथ काम करेंगी। जिले की सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है। नाकों पर थर्मल स्क्रीनिंग के बिना कोई भी शहर में प्रवेश नहीं करने पाएगा। साथ ही ग्वालियर के रजिस्ट्रेशन नंबर के अलावा अन्य शहरों के रजिस्ट्रेशन नंबर के वाहनों को प्रवेश पूरी पूछताछ के बाद दिया जाएगा। शहर में प्रवेश करने वालों की पूरी ट्रेवल्स हिस्ट्री खंगाली जाएगी। यह सब कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए किया जा रहा है। 

बुधवार दोपहर बाल भवन में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बैठक में संभागीय आयुक्त आशीष सक्सैना, आईजी अविनाश शर्मा, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, एसपी अमित सांघी व नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा मौजूद रहे हैं। बैठक में सभी इंसीडेंट कमाण्डर एवं पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि कोरोना गाइडलाइन का कड़ाई से पालन कराया जाए। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने निर्देश दिए कि इंसीडेंट कमाण्डर एवं पुलिस अधिकारी संयुक्त रूप से मास्क न लगाने वाले लोगों से जुर्माना वसूलें। सड़क मार्गों व बाजारों के साथ-साथ मास्क न लगाने वाले दुकानदारों से भी जुर्माना वसूला जाए। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिये दुकानों के आगे गोल घेरे भी बनवाए जाएं।

निर्देश -

  • सीएमएचओ को दिए निर्देश नए प्रकार के कोरोना वायरस का पता लगाने नमूने जांच के लिए भेजें।
  • जो मरीज अस्पताल जाने के लिये एम्बूलेंस की मांग करें वहां तत्काल एम्बूलेंस पहुंचाएं।
  • होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितों तक नियमित रूप से दवाएं पहुंचाएं।
  • स्मार्ट सिटी कंट्रोल एण्ड कमाण्ड सेंटर 24 घंटे सक्रिय रहे।
  • होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों के घर खान-पान की सामग्री पहुंचाने की व्यवस्था करें।
  • कोरोना संक्रमित मरीजों के पते में वार्ड का उल्लेख जरूर हो।
  • संबंधित इंसीडेंट कमाण्डर अपनी टीम को कोरोना नियंत्रण में लगाएं।
  • सभी फीवर क्लीनिक सक्रिय रहें और वहां नियमित रूप से कोरोना की जांच की जाए।
  • भीड़ कम करने के लिये मंडियों का किया जा सकता है विकेन्द्रीकरण।
  • कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर भी सभी इंसीडेंट कमाण्डर ध्यान दें।