पांच लोग बहे एक की हुई मौत...

हाई लेवल नहर में गिरी नहर पट्टी पर दौड़ रही बस

डबरा। विकासखंड के अंतर्गत आने वाली हरसी हाईलेवल नहर पर विगत रविवार को दिलदहला देने वाला हादसा घटित हो गया जिसके बाद क्षेत्र में सनसनी का वातावरण फैल गया। शिवपुरी जिले के नरवर के निकट आने वाले प्रसिद्ध लोहड़ी माता मंदिर पर ग्वालियर से एक परिवार अपनी मनोकामना पूर्ण होने पर पूजा करने रविवार को पहुंचा था। जिसके बाद मंदिर से पूजा कर लौटते समय रास्ते में हरसी डेम जो कि पर्यटकों के आर्कषण का केन्द्र है जहां पर परिवार ने रूककर डैम पर समय बिताया इसी बीच नहर किनारे खड़े परिवार के पांच लोग पानी के तेज बहाव होने के कारण नहर में बह गए। जिसमें मौके पर मौजूद ग्रामीणों की मदद से परिवार के चार लोगों केा बचाने में सफलता हासिल कर ली है लेकिन एक नौजवान पानी के तेज बहाव होने के कारण पानी में बह गया जिससे उसकी मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक गब्बर उर्फ दिनेश कुशवाह उम्र 29 वर्ष निवासी न्यू रेलवे कालौनी ग्वालियर रविवार को अपने परिवार के साथ लोहड़ी माता मंदिर पर पूजा कर लौट रहा था तभी रास्ते में हरसी डैम पर रूककर नहर के पास घूमते समय पानी के तेज बहाव के कारण अपने परिवार के चार लोगों के साथ नहर में बह गया।

तब ग्रामीणों के द्वारा चार लोगों को तो बचा लिया गया लेकिन पानी के बहाव की गति तेज होने के कारण गब्बर का कोई पता नहीं लग सका। तब उक्त हादसे की जानकारी स्थानीय बेलगढ़ा पुलिस थाने को दी गई तब बेलगढ़ा थाना प्रभारी उनि. राधेश्याम शर्मा अपने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और निकटम गांव में से बुलाए गौताखोरों की मदद से मृतक गब्बर के शव को खोजा गया तब बीते एक घंटे में कड़ी मशक्कत के बाद घटनास्थल से करीब 200 मीटर की दूरी पर मृतक का शव गोताखोरों ने ढूंढ निकाला, शव के मिलने पर उसे भितरवार स्वास्थ केन्द्र लाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

दरअसल, बेलगाड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली हरसी डैम की नहर पर रविवार को हुए हादसे की जानकारी मिलने पर भितरवार एसडीओपी अभिनव बारंगे, नायब तहसीलदार कमलसिंह कोली के साथ बेलगाड़ा थाना प्रभारी उनि. राधेश्याम शर्मा अपने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और नहर में बहे लोगों की तलाश शुरू करवाई जिसमंे चार लोगों को तो जिंदा बचाने में कामयाबी हासिल हुई लेकिन एक नौजवान की मौत हो गई। बेलगाड़ा थाना प्रभारी उनि. राधेश्याम शर्मा ने बताया कि रविवार को हरसी नहर में डूबे पांच लोगों में तीन पुरूष व दो महिलायें शामिल थी जिसमें एक महिला, एक बच्ची व दो पुरूषों को बचाने मंे तो सफलता मिली लेकिन हादसे को देर होने और नहर की गहराई अधिक होने तथा पानी का बहाब तेज होने के कारण एक नौजवान गब्बर की जान नहीं बचपाई और कड़ी मशक्कत के बाद हादसे से दो घंटे बाद मृतक का शव घटनास्थल से लगभग 200 मीटर की दूरी पर मिला।