श्रृंखला बनाकर करते थे सभी ट्रेनों मेें चोरी...

रेलवे पुलिस ने सांसी गैंग के मेंबर दबोचे, दस लाख का माल भी बरामद



ग्वालियर। जीआरपी ग्वालियर पुलिस ने रेलवे में लूट एवं चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाली सांसी गैंग के चार मेंबरों को ग्वालियर रेलवे स्टेशन के पास दबोच लिया। चारों बदमाशों के पास से पुलिस ने दस लाख रूपए का रेल यात्रियों से चोरी किया गया माल जिसमें सोने-चांदी के जेवर और अन्य सामान है, बरामद कर लिया है। जीआरपी ग्वालियर के थाना प्रभारी अजीत कुमार चौहान को 3 फरवरी 2021 को दोपहर डेढ बजे सूचना मिली की कुछ युवक ग्वालियर रेलवे स्टेशन के आगरा छोर की रेलवे कॉलोनी के पास बने रेलवे केबिन में संदिग्ध परिस्थितियों में देखे गए हैं। इस सूचना पर उप पुलिस अधीक्षक रेल श्रीमती शुभा श्रीवास्तव ने टीम गठित कर मौके पर भेजा। टीम ने मौके पर चारों युवकों को गिरफ्तार कर लिया उनके पास से कटर, प्लायर, पेचकस आदि मिले। 

पूछताछ पर उन्होंने स्वयं को सांसी गैंग का सदस्य बताया। उन्होंने बताया कि वे पूरे देश में घूम-घूमकर ट्रेनों में चोरी करते हैं। उन्हेांने ग्वालियर में चार तथा मुरैना में एक चोरी की घटना को अंजाम देना स्वीकार कर लिया। जिन चोरों को पकडा गया है उनमें सुरेन्द्र कुमार निवासी सुल्तानपुरी उत्तर दिल्ली, अतर सिंह, सुल्तानपुरी दिल्ली, रविन्द्र सिंह सासी सुल्तानपुरी दिल्ली तथा राजेन्द्र निवासी सुल्तानपुरी दिल्ली शामिल है। इस दौरान उनके दो साथी विनो तथा विजय फरार हो गए। सांसी गैंग में शामिल मैंबर हरियाणा के रहने वाले हैं। ये बदमाश भीड-भाड वाले क्षेत्र में जेबकटी और मौका पडने पर लूट जैसी वारदातें करते हैं। यह गैंग ट्रेनों में मानव श्रृंखला के रूप में काम करती है।

जो यात्रियों से मेलजोल बढाकर उनकी स्थिति भांपकर चोरिया करती है। मंगला एक्सप्रेस में 7 जनवरी को एक बुजुर्ग दंपत्ति से मेल जोल बढाकर इस टीम ने उनका सामान उतरवाने में मदद करने की बात कही और इस बीच गैंग ने उनके सामान में से कीमती सामान पार कर दिया। पैसेंजर ट्रेन से 29 फरवरी 20 को ट्राली बेग चोरी की तथा अन्य चोरी की वारदातें गैंग ने की है। गैंग के मेंबरों ने पूछने पर बताया कि उन्होंने जीटी, तेलंगाना, दक्षिण, मंगला, मालवा, पुरी एक्सप्रेस, पंजाब मेल सहित कई गाडियों में चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है। गैंग को पकडने वालों में निरीक्षक अजीत सिंह चौहान उपनिरीक्षक आरएस भिंडिया, एएसआई बीबी शर्मा प्रधान आरक्षक प्रीतम सिंह, हरनारायण, छेदीलाल मिश्रा सहित अन्य स्टाफ के सदस्य शामिल थे।