2326 युवाओं का हुआ प्राथमिक चयन…

रोजगार देने वाले एवं पाने वालों को सरकार ने मंच प्रदान किया : शेजवलकर 

ग्वालियर। रोजगार देने वाले एवं रोजगार पाने वालों को रोजगार मेले के रूप में  मंच प्रदान कर प्रदेश सरकार ने सराहनीय पहल की है। रोजगार मेले आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की अवधारणा को साकार कर रहे हैं। इस आशय के विचार सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने जिला स्तरीय रोजगार मेला के उदघाटन अवसर पर व्यक्त किए। शनिवार को यहाँ बिरलानगर स्थित महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के तहत लगाए गए जिला स्तरीय रोजगार मेले में कुल 3067 युवाओं के पंजीयन हुए। इनमें से 1421 युवाओं को विभिन्न कंपनियों ने ऑफर लेटर जारी किए। 

साथ ही 2326 युवाओं का कंपनियों ने नौकरी के लिये प्राथमिक रूप से चयन किया। रोजगार मेले के उदघाटन सत्र की अध्यक्षता जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष मनीषा यादव ने की। इस अवसर पर जिला पंचायत प्रशासकीय समिति के उपाध्यक्ष शांतिशरण गौतम एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल, संयुक्त संचालक कौशल विकास डी वाय गंगाजली, उप संचालक रोजगार प्रियंका कुलश्रेष्ठ एवं आईटीआई के प्रधानाचार्य सी एल कटारे सहित विभिन्न कंपनियों के अधिकारी व अभ्यर्थी मौजूद थे। रोजगार मेले का आयोजन जिला प्रशासन द्वारा जिला पंचायत, कौशल विकास व रोजगार एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के सहयोग से किया गया। 

नौकरी के लिये चयनित युवाओं को खासतौर पर ट्रेनी, कस्टमर केयर, एक्ज्यूकेटिव रिलेशनशिप, सुरक्षागार्ड तथा अन्य एक्यूकेटिव पदों के लिये शॉर्ट लिस्ट किया गया है। सांसद विवेक नारायण शेजवलकर एवं अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन एवं कन्या पूजन कर रोजगार मेले का शुभारंभ किया। उन्होंने रोजगार मेले में युवाओं को नौकरी देने आईं कंपनियों के काउण्टर पर पहुँचकर कंपनी के अधिकारियों से चर्चा की। साथ ही कहा कि ग्वालियर क्षेत्र के युवा मेहनती और काम के प्रति जवाबदेह होते हैं। इसलिये निश्चिंत होकर यहां के युवाओं को नौकरी का मौका दें। रोजगार मेले के समापन अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल ने नौकरी के लिये चयनित युवाओं को ऑफर लेटर प्रदान किए।