शुक्र है !

मई के बाद पहली बार...

 

 

ग्वालियर। मई 2020 के बाद 11 फरवरी पहला ऐसा दिन है जिस दिन जांच में कोई भी कोरोना का मरीज नहीं मिला है। वहीं कोरोना के मामले लगातार कम होने के कारण अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती मरीजों की संख्या भी काफी कम रह गई है। वहीं कोरोना को खत्म करने के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे वैक्सीनेंशन कार्यक्रम के तहत गुस्र्वार को 5197 फ्रंट लाइन वर्करों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जानी थी, लेकिन इनमें से 2837 लोगों ने वैक्सीनेशन सेंटरों पर पहुंचकर वैक्सीन लगवाई है।

चीन के वुहान से निकले कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया था। इससे पूरे विश्वभर में लाखों लोगों की जान गई भारत भी इससे अछूता नहीं रहा, ग्वालियर में भी कोरोना से अब तक 228 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि अभी तक 16467 लोग कोरोना की चपेट में चुके हैं।  कोरोन के चलते ग्वालियर में 310109 लोगों की सैंपलिंग कराई गई।

 

लेकिन आखिरकार ग्वालियर में कोरोना को काबू करने के प्रयास रंग लाए। गुस्र्वार को कोरोना के 667 लोगों के सैंपल भेजे गए लेकिन इनमें से किसी भी व्यक्ति को कोरोना की पुष्टि नहीं हुई। इसके साथ ही गुस्र्वार को किसी भी व्यक्ति की कोरोना से मौत भी नहीं हुई। ग्वालियर के मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पीटल में भी मात्र 41 कोरोना के मरीज उपचार के लिए बचे हुए हैं।

 महीना             सेंपल                                पॉजिटिव                                 मौत

मार्च                              375                                       2                                         0

अप्रैल                            2000                                     07                                        0

मई                               10702                                   121                                     02

जून                              16982                                   263                                     01

जुलाई                           30898                                   909                                    14

अगस्त                         1475                                     3210                                   51

सिंतबर            3069                                     5208                                   111

अक्टूबर            36161                                  1636                                    47

नवंबर                          34487                                    2430                                   85

दिसंबर                         52855                                   1330                                   1707      

जनवरी                        48007                                    476                                     686

फरवरी             4805                                      42                                      53