MP नेतृत्व, प्रबंधन और योजनाओं के क्रियान्वयन में अव्वल...

जलाभिषेकम् स्थानीय नहीं बल्कि राष्ट्रीय महत्व का कार्यक्रम है : रक्षा मंत्री

ग्वालियर। केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि 'जलाभिषेकम्' स्थानीय ही नहीं राष्ट्रीय महत्व का कार्यक्रम है। जल ही जीवन है और जगत के अस्तित्व का आधार भी है। किसानों की आय दोगुना करना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संकल्प है। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जन-भागीदारी से किए जा रहे जल-संरक्षण कार्य इस लक्ष्य को प्राप्त करने तथा आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में सहायक होंगे। उन्होंने पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्य-तिथि पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि 'हर खेत को पानी और हर हाथ को काम' की मंशा को पूर्ण करते 'जलाभिषेकम्' के कार्य गाँव, गरीब और किसान की बेहतरी में सहायक सिद्ध होंगे।

मनरेगा दुनिया की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है और कोविड काल में इसका महत्व और बढ़ा है। केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 'जलाभिषेकम्' अभियान के अंतर्गत प्रदेश में निर्मित 57 हजार से अधिक जल-संरचनाओं के वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम को नई दिल्ली से संबोधित कर रहे थे। 

मिंटो हॉल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण तथा ग्रामीण विकास और पंचायत राज मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर दिल्ली से वर्चुअली शामिल हुए।