4 राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए...

BJP ने कैबिनेट मंत्रियों को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

भारतीय जनता पार्टी ने कई राज्यों में अप्रैल-मई में होने जा रहे विधानसभा चुनावों के मद्देनजर शीर्ष नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है. भाजपा ने पार्टी के नेताओं नरेंद्र सिंह तोमर, जी किशन रेड्डी, प्रहलाद जोशी और अर्जुन राम मेघवाल को क्रमशः असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी के चुनाव प्रभारियों के रूप में नियुक्त किया है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल में पहले से ही भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के कंधों पर चुनाव का प्रभार है. अप्रैल-मई में असम, तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी के अलावा पश्चिम बंगाल में भी विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. इसमें असम में भाजपा और असम गण परिषद के गठबंधन की सरकार है, जिसमें मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल हैं. 

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार है और ममता बनर्जी मुख्यमंत्री हैं. केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट की सरकार है यानी भाकपा और माकपा के साथ अन्य लेफ्ट पार्टियों का गठबंधन और मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन हैं. तमिलनाडु में ईके पलनिस्वामी सीएम हैं और एआईएडीएमके सत्ता में है जो कि भाजपा की गठबंधन सहयोगी पार्टी. कांग्रेस के पास सिर्फ केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी है, जहां वी नारायणसामी मुख्यमंत्री हैं. पश्चिम बंगाल में यूं तो भाजपा और तृणमूल कांग्रेस की सीधी टक्कर देखी जा रही है लेकिन कांग्रेस और वाम दलों का गठबंधन और ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के चलते चुनावी माहौल बदलता दिख सकता है. 

हालांकि टीएमसी के कई नेताओं के बीजेपी में शामिल होने के बाद से भाजपा लगातार अपनी स्थिति मजबूत होने का दावा कर रही है. वहीं केरल में माकपा नीत सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा राज्यव्यापी जनसभाएं करने और जमीनी स्तर पर बैठकें करने की तैयारी कर रहा है. साथ ही, अपना जनाधार बढ़ाने के लिए घर-घर जाकर मतदाताओं को रिझाने का अभियान जारी रखने की भी उसकी योजना है. एलडीएफ की तैयारियों को टक्कर देने के लिए भाजपा ने संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी को प्रभार सौंपा है. वहीं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने तमिलनाडु में आगामी विधानसभा चुनाव में अन्नाद्रमुक के साथ गठबंधन जारी रखने की घोषणा करते हुए कहा कि दोनों पार्टियां साथ मिलकर यह चुनाव लड़ेंगी. तमिलनाडु का चुनावी प्रभार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी संभालेंगे.