6 ड्रायवरों के लायसेंस निरस्त...

चेकिंग करने पहुंचे परिवहन आयुक्त ने पकड़ी 8 ओवरलोड बसें 

ग्वालियर। परिवहन आयुक्त मुकेश जैन ने खुद सड़कों पर बसों की चैकिंग की इसके तहत उन्होंने ओवर लोड, बिना परमिट व फिटनेस के सड़कों पर दौड़ रहीं बसों को जब्त कराया। परिवहन आयुक्त टीम के साथ सुबह 8.30 बजे महाराजपुरा पहुंचे और मुरैना की ओर जाने वाली बसों की जांच की। 6 ओवर लोड बसों को जब्त किया और एक बस के चालक पर लाइसेंस नहीं होने पर जुमार्ने की कार्रवाई की। ओवर लोड बसों के परमिट निरस्त कर ब्लैक लिस्टेड करने के आदेश दिए है। प्रदेश भर में ओवरलोड बसों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, उच्च अधिकारियों से लेकर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय का अमला कार्रवाई के लिए सड़कों पर है। 

परिवहन आयुक्त जिले से निकलने वाले हाईवे पर कार्रवाई की, गोला का मंदिर व मालवा कॉलेज पर कार्रवाई की, सुबह 8.30 बजे महाराजपुरा पहुंच गए उनके साथ परिवहन विभाग का अमला भी मौजूद था। महाराजपुरा से गुजरने वाली बसों को चेक किया गया। 52 सीटर बस में 65 यात्री सवार थे 32 सीटर बस में 45 यात्री बैठे थे। 8 बसों को जब्त कर लिया गया है इनमें क्षमता से ज्यादा यात्रियों की संख्या थी। 

महाराजपुरा पर परिवहन आयुक्त मुकेश जैन, आरटीओ एसपीएस चौहान आदि के साथ बसों की चैकिंग कर रहे थे इस बीच जिन बसों के बिना परमिट और बिना टैक्स ओवरलोड और जो ड्रायवर बिना बर्दी के बसों को चला रहे थे उनके ऊपर चालानी कार्यवाही के साथ ड्रायवर नरेश सिंह यादव, राजेश कुशवाह, मुकेश पाल और नीरज झा आदि के ड्रायविंग लायसेंस निरस्त कर दिये गये हैं। बसों पर की गयी चालानी कार्यवाही में एक लाख 11 हजार 500 रूपये की राशि वसूल की गयी हैं। 

एक बस बिना परमिट चलती मिली और इस को भी जब्त कर लिया गया। एक बस के चालक पर लाइसेंस ही नहीं था इस पर बस के चालक पर जुर्माना किया गया। आयुक्त ने ओवरलोड बसों के परमिट निरस्त करने के आदेश दिए। इन्हें आगामी आदेश तक ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा, आयुक्त की इस कार्रवाई से बस ऑपरेटरों में हड़कंप मच गया है। रास्ते भी बदले लेकिन हाईवे पर पकड़े गए और चेकिंग के दौरान मप्र के परिवहन आयुक्त मुकेश जैन, ग्वालियर आरटीओ एसपीएस चौहान, आरटीआई राजेन्द्र सोनी, टीएसआई विमित गुप्ता भी परिवहन आयुक्त के साथ मौजूद रहे।