एलडीएम को कारण बताओ नोटिस...

जनसुनवाई में कलेक्टर ने सुने 127 आवेदन

मुरैना। प्रदेश सरकार की पहल पर प्रत्येक मंगलवार को प्रातः 11 से 1 बजे तक जनसुनवाई करने के निर्देश है। इसके तहत कलेक्टर बी. कार्तिकेयन द्वारा मंगलवार को नवीन कलेक्ट्रेट में 127 आवेदनों को सुना। जिसमें ग्राम पैलारा निवासी दिव्यांग कु. राजकुमारी रावत ने अपने पिता के साथ पहुंचकर आवेदन कलेक्टर को प्रस्तुत किया, आवेदन में लिखा हुआ था कि मंद बुद्धि होने के बाद मुझे पेंशन स्वीकृत की जावे। कलेक्टर ने आवेदन विचार कर तत्काल सामाजिक न्याय विभाग को कु. राजकुमारी रावत को पेंशन स्वीकृत करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही डोंगरपुर निवासी दिव्यांग लाखन सिंह और गोपालपुरा ठाकुर गली मुरैना निवासी दिव्यांग रबि प्रजापति ने आवेदन प्रस्तुत किया कि मैं शासकीय स्नातकोत्तर का छात्र हूं, मेरे द्वारा इंदौर टुर्नामेंट में क्रिकेट मैच हमारी टीम ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। मेरी दयनीय स्थिति है, इस कारण मैं व्हीलचेयर व क्रिकेट किट नहीं खरीद सकता, किन्तु मेरी इच्छायें है कि क्रिकेट मैच मैं और आगे बढ़ूं। 

आवेदन को कलेक्टर बी. कार्तिकेयन ने गंभीरता से पढ़ा और तत्काल खेल अधिकारी को बुलाकर निर्देश दिये कि मेरे माध्यम से शासन को व्हीलचेयर के लिये प्रस्ताव भेजा जाये और सामाजिक न्याय विभाग से क्या इस प्रकार के छात्रों को व्हीलचेयर प्रदान की जाती है तो व्हीलचेयर प्रदान कराई जाये। जनसुनवाई के दौरान कुल 127 आवेदनों में से कलेक्टर द्वारा 17 आवेदन 24 घंटे के लिये चिन्हित किये, वो ऐसे आवेदन थे जो जाहिज समस्यायें थीं जिन्हें 24 घंटे के अंदर हल किया जा सकता है। उनको 24 घंटे के अंदर निराकरण करने के लिये अधिकारियों को निर्देश दिये। इसके अलावा कई ब्लाॅक स्तर के आवेदन जनसुनवाई में प्राप्त हुये, जिन्हें कलेक्टर ने गंभीरता से पढ़ा और वर्चुअल वीडियो काॅलिंग के माध्यम से ब्लाॅक स्तर के अधिकारियों से सीधा संवाद कर उसका निराकरण 24 घंटे के अंदर करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने हितग्राही का आवेदन अपर कलेक्टर के माध्यम से वाट्सएप पर ब्लाॅक स्तर के अधिकारियों को तत्काल प्रेषित किया गया। 

कलेक्टर ने समस्त जनपद सीईओ, नगरीय निकायों के सीएमओ, अम्बाह, जौरा एवं सबलगढ़ के एसडीएम से सीधा संवाद वर्चुअल काॅल करके किया। जनसुनवाई के दौरान अपर कलेक्टर, एसडीएम मुरैना, डिप्टी कलेक्टर, समस्त जिलाधिकारी, जनपद सीईओ एवं तहसीलदार उपस्थित थे। कलेक्टर द्वारा मंगलवार को जनसुनवाई में जाहिज आवेदनों को 24 घंटे में निराकरण के लिये रखा जाता है। जिसमें पिछली 9 फरवरी को 59 आवेदनों को चिन्हित किया था, जिन्हें संबंधित अधिकारियों को निराकरण के लिये भेजा था। उन अधिकारियों ने 24 घंटे में ऐसे आवेदनों का निराकरण के लिये भरसक प्रयास किये, जिसमें मात्र 35 आवेदनों का निराकरण हुआ। जिनमें 14 आवेदन ऐसे पाये गये जो अपात्र थे, 10 आवेदन ऐसे पाये गये, जिनका निराकरण किया जा रहा है। जिसमें 3 आवेदन एलडीएम के थे, उनका निराकरण नहीं किया गया। इस पर कलेक्टर ने एलडीएम कर्नल कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।