किसानों को ₹75,100 करोड़ की MSP...

मंडी बंद होने अफवाह के बीच 1000 और मंडियां को जोड़ने का एलान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बही-खाता 2021 में किसानों की आय दोगुना करने को लेकर मोदी सरकार की प्रतिबद्धता पर जोर दिया वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने भाषण में बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि उनकी सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर कायम है। भाषण के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, हम किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था में मूलभूत सुधार किया गया है। फसल खरीद का काम तेजी से जारी है,जिससे किसानों को भुगतान किए जाने में बढ़ोतरी हुई है। 

गेंहू के लिए किसानों को वर्ष 2013-14 में 33,874 करोड़ का भुगतान किया था 2019-20 में यह 62802 करोड़ था। 2020-21 में स्थिति और अच्छी हुई है और किसानों को कुल 75 हजार 60 करोड़ का भुगतान किया है। अहम बात यह है कि गेंहू का उत्पादन करने वाले किसानों की संख्या 2019-20 में 43.36 लाख तक पहुंच गई है। धान की बात करें तो साल 2013-14 में 629,128 करोड़ का भुगतान किया गया था,जोकि 2019-20 में यह राशि बढ़कर 141,930 करोड़ तक हो गई थी। 2020-21 में यह स्थिति और बेहतर हुई है इस अवधि में यह खरीद अभी जारी है,इसलिए अंतिम आंकड़े नहीं दिए जा सकते लेकिन यह 172,700 करोड़ तक हो जाने का अनुमान है। कपास खरीद मामले में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है जोकि 27 जनवरी 2021 तक 25,974 करोड़ की खरीद की गई है। 

इस साल शुरू में ही प्रधानमंत्री ने स्वामित्व स्कीम शुरू की थी, जिसके तहत गांवों में संपत्ति मालिकों को अधिकार के दस्तावेज दिए जा रह हैं। अभी तक एक लाख से ज्यादा को यह दस्तावेज दिए जा चुके हैं। किसानों को र्प्याप्त ऋण देने को बढ़ाकर 16 लाख 5 हजार करोड़ रुपये तक कर दिया है और इसके तहत पुशपालन,मात्यसिकी और डेयरी क्षेत्र में जोर होगा ग्रामीण संरचना कोष को 40 हजार करोड़ तक किया जा रहा है। E-Nam से 1000 और मंडियों को जोड़ा जाएगा मात्यसिकी के लिए आधुनिक मात्यसिकी बंदरगाहों के निवेश का प्रस्ताव है।