अधिकारियों को दिये निराकरण के निर्देश…

जनसुनवाई में श्री वर्मा ने सुनी लोगों की समस्यायें

मुरैना। मंगलवार 5 जनवरी को नवीन कलेक्ट्रेट में हुई जनसुनवाई में पहुंचे लोगों की समस्याओं को कलेक्टर अनुराग वर्मा ने ध्यानपूर्वक सुना और निराकरण के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनसुनवाई के प्रकरणों का निराकरण शीघ्रता से किया जावे। प्रकरणों के निराकरण में विलम्ब नहीं हो। जनसुनवाई में जिले के विभिन्न स्थानों से आये आवेदकों ने 71 आवेदन दिये। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को समस्याओं के निराकरण के निर्देश दिये। इस अवसर पर अपर कलेक्टर, प्रभारी सीईओ जिला पंचायत, संयुक्त कलेक्टर और एसडीएम सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कसमड़ा निवासी अभ्यर्थी मातादीन पुत्र चित्र सिंह ने आदिम जाति कल्याण विभाग से कुंआ के लिये डीपी पोल एवं तार लगवाने के लिये राशि जमा कर दी है, वर्क आॅडर हो चुका है, किन्तु आज तक लाइन नहीं खींची गई है। कलेक्टर ने एमपीईबी को सख्त निर्देश दिये है कि कार्य को प्राथमिकता दें। उम्मेदगढ़ बांसी आवेदिका बादामी ने पीओएस मशीन में स्टाॅक कम दिखाने से खाद्यान्न प्रदान नहीं किया है। इस संबंध में खाद्य विभाग को नियमानुसार खाद्यान्न देने के निर्देश दिये।

ग्राम सांठा निवासी समूह के रूप में कैलाशचन्द्र राठौर, अमर सिंह शर्मा, दिलीप गौड़, बलराम गौड़ ने आवेदन प्रस्तुत किया है कि गांव में विद्युत व्यवस्था नहीं है, खंभा खड़े हुये है। डीपी नहीं है। 10 परिवार मीटरधारी है, उन्हें दूसरे ट्रान्सफार्मर से विद्युत लेने पर लड़ाई-झगड़े की नौबत आती है। कलेक्टर ने विद्युत मण्डल को आवश्यक कार्य दुरूस्त करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने समस्त एसडीएम को निर्देश दिये है कि शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में गति लायें, मुझे किसी भी विभाग की लापरवाही एवं शिकायत नहीं मिलना चाहिये। व्यक्ति को जनसुनवाई में शिकायत लेकर जिले स्तर तक नहीं आना पड़े, एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में नियमानुसार सुनवाई करें और उनकी समस्या का त्वरित निराकरण सुनिश्चित करें।